अजब प्रेम की गजब कहानी, भारतीय लड़की को बांग्लादेशी युवती से हुआ प्यार, 6 साल तक डेटिंग करने के बाद कर ली शादी

GAY MARRIAGE : प्यार कब किस से हो जाए, यह कोई नहीं जानता। प्यार को न तो देश की सीमाओं में बांधकर रखा जा सकता है और ना ही जाति और धर्म में। पिछले दिनों ऐसा ही एक वाक्या घटित हुआ है। भारतीय मूल की एक युवती ने बांग्लादेशी लड़की को अपना हमसफर चुन लिया है। दोनों लड़कियों ने अपने परिवार वालों की रजामंदी से शादी भी कर ली है। यह शादी सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गई है। क्योंकि या शादी हम शादी नहीं है। दो लड़कियों नहीं आपस में शादी की है। इसमें शादी की हर और चर्चा हो रही है। बता दें की जिन दो युवतियों ने शादी की है, वे दोनों समलैंगिक हैं। दोनों की दोस्ती लगभग 6 साल पहले एक डेटिंग ऐप के जरिए हुई थी। छह साल तक बतौर दोस्त रहने के बाद दोनों ने शादी करने का फैसला किया। वैसे दो युवतियों का आपस में शादी करना इतना आसान भी नहीं था. खासकर बांग्लादेश की टीना दास के लिए। 

पहले से शादीशुदा थी बांग्लादेश की टीना

बताते चलें कि कनाडा में रहने वाली सुभिक्षा सुब्रमणि मूल रूप से तमिलनाडु की रहने वाली है। उसने 31 अगस्त को बांग्लादेश की टीना के साथ भारत में शादी कर ली। सुभिक्षा बताती हैं कि ये सबकुछ उनके लिए आसान नहीं था. लेकिन वह इस शादी के लिए अपने माता-पिता को समझाने में सफल रहीं। वैसे यह शादी करना बांग्लादेश की टीना के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण रहा। क्योंकि टीना की 19 साल की उम्र में ही शादी हो चुकी थी। लेकिन वह शादी के कुछ ही दिनों बाद अपने पति से अलग हो गई थी। 

पिता नहीं चाहते थे भारत में हो मेरी शादी

सुभिक्षा ने अपनी कहानी बताते हुए कहा कि हमारी जड़ें भारत में हैं। इसलिए वह चाहती थीं कि उनकी शादी भारत में ही हो। ऐसे में उन्होंने पूरे परिवार को शादी के लिए राजी कर तमिलनाडु में टीना से शादी कर ली। टीना से सुभिक्षा की पहली मुलाकात कनाडा में ही हुई थी। छह वर्षों तक साथ साथ रहने के बाद दोनों शादी के बंधन में बंध गईं। सुभिक्षा ने बताया कि जब उन्होंने यह प्रस्ताव अपने घर में रखा तो उनकी मां तो मान गई थीं, लेकिन पिता इस शादी की बात सुनकर परेशान हो गए। बाद में उन्होंने इस शादी के लिए हां तो कह दिया। लेकिन वह चाहते थे कि यह शादी भारत में ना हो बल्कि कनाडा में हो। वही मेरी इच्छा भारत में शादी करने की थी। जब सुभिक्षा ने अपने पिता से पूछा कि आप मेरी शादी से क्यों डर रहे हैं तो उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि उन्हें इस बात का डर है कि इस शादी के विरोध में यहां प्रदर्शन होने लगेगा। मेरे ब्रिज आंदोलन होने लगेगा। इसलिए मैं नहीं चाहता कि यह शादी यहां हो। 

हनीमून के लिए विदेश गया यह समलैंगिक जोड़ा

झंझावतों के बावजूद यह शादी तमिलनाडु में पूरे विधि-विधान से हुई। यह शादी कराने वाले भी समलैंगिक समुदाय से थे। इस समलैंगिक जोड़े ने बताया कि उन्हें ट्रोल का सामना भी करना पड़ता है। लेकिन उनकी शादी समलैंगिक समुदाय को लेकर लोगों में व्याप्त पूर्वाग्रहों को तोड़ने का काम करेगी।  शादी के बाद बांग्लादेश की टीना दास भी सुभिक्षा का भरपूर साथ दे रही है। शादी होने के बाद टीना ने कहा कि मुझे बहुत खुशी हो रही है। मैं पहली बार तमिलनाडु आई हूं। मैं इतना ज्यादा खुश हूं कि मैं अपनी भावनाओं को व्यक्त नहीं कर पा रही हूं। इस शादी में सुभिक्षा का पूरा परिवार साथ खड़ा था। सचमुच यह शादी अद्भुत थी, यह सपना सच होने जैसा था।  शादी के बाद सुभिक्षा और टीना हनीमून के लिए देश से बाहर चले गए हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *