|

Cyclone setrang : सितरांग’ ने बांग्लादेश ने मचाई तबाही, 9 लोगों की मौत, पश्चिम बंगाल में भी दिखने लगा सितरांग का असर, कई जिलों में अलर्ट

Cyclone setrang update : बांग्लादेश के तट से सितरांग तूफान (Cyclone setrang) के टकराने के बाद वहां की स्थितियां पूरी तरह से बदल गई हैं। तूफान सितरंग के कारण बांग्लादेश में 9 लोगों की मौत हो गई है। बांग्लादेश में तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। बांग्लादेश के आपदा मंत्रालय के नियंत्रण कक्ष के प्रवक्ता के अनुसार बरगुना, नरैल, सिराजगंज जिलों और भोला के द्वीप जिले में कम से कम नौ लोगों की मौत हो गई है। प्रवक्ता के अनुसार मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है। प्रशासन अपनी ओर से लोगों की जान माल की रक्षा के लिए हर संभव प्रयास में जुटा है।

केंद्र सरकार और बंगाल सरकार भी अलर्ट मोड में

पश्चिम बंगाल में राहत और बचाव कार्य में जुटी एनडीआरएफ की टीम।

चक्रवाती तूफान सितरांग (Cyclone setrang) आज पश्चिम बंगाल के कई जिलों में तबाही मचा सकता है। इसे देखते हुए केंद्र सरकार, पश्चिम बंगाल सरकार ने अपनी ओर से खासा तैयारियां कर रखी हैं। बंगाल की खाड़ी मैं आए सितरांग तूफान (Cyclone setrang) के तट के करीब आने से पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों की स्थिति पूरी तरह से बदल गई है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार सितरांग तूफान (Cyclone setrang) और शक्तिशाली होकर बांग्लादेश के तिकोणा और संद्वीप के बीच तट से टकरा चुका है। इससे तेज बारिश के साथ हवाएं भी काफी तेज चल रही हैं। इस विकट स्थिति के कारण कई पेड़ धराशाई हो गए हैं। एहतियात के तौर पर बिजली की सप्लाई भी रोक दी गई है। बांग्लादेश में चक्रवात सितरंग (Cyclone setrang) के दस्तक देने के बाद 7 लोगों की मौत हो गई है। बांग्लादेश में निचले इलाकों में रहने वाले हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। आपदा मंत्रालय के नियंत्रण कक्ष के प्रवक्ता के मुताबिक बरगुना, नरैल, सिराजगंज जिलों और भोला के द्वीप जिले में कम से कम नौ लोग मारे गए हैं। मरने वालों की संख्या बढ़ने की भी प्रवक्ता ने आशंका जताई है।

कोलकाता समेत आसपास के जिलों में बारिश शुरू

चक्रवाती तूफान सितरांग (Cyclone setrang) के कारण कोलकाता में बारिश शुरू हो गई है। उत्तर और दक्षिण परगना जिलों में भी इस तूफान का खासा असर देखा जा रहा है। इन इलाकों में भी रुक रुक कर बारिश हो रही है और तेज हवाएं चल रही हैं। मौसम विज्ञान कार्यालय के अनुसार तूफान सितरांग (Cyclone setrang) की  रफ्तार और बढ़ने की उम्मीद है। दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना और मिदनापुर जैसे तटीय जिलों में तेज बारिश शुरू हो गई है। इन जिलों में 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। माना जा रहा है कि इन हवाओं की गति बढ़कर 110 किलोमीटर तक जा सकती हैं।

इन इलाकों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश

सितरांग चक्रवात (Cyclone setrang) को  देखते हुए नवान्न ने अलर्ट जारी कर दिया है। पश्चिम बंगाल के दीघा, मंदारमनि, शंकरपुर, बकखाली और सागर विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। इन इलाकों में पर्यटकों को समुद्र में न जाने की चेतावनी जारी की गई है। इधर, राज्य आपदा प्रबंधन विभाग ने कहां है कि सितरांग तूफान (Cyclone setrang) के  कारण एक से दो मीटर तक समुद्र तटीय इलाकों में जल स्तर बढ़ सकता है। नवान्न ने पेड़ काटने के उपकरण तैयार रखने के भी निर्देश दिए हैं। तूफान से प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों को जरूरी राहत सामग्री तैयार करने को कहा गया है। उत्तर 24 परगना, दक्षिण 24 परगना, पूर्व और पश्चिम मिदनापुर, हावड़ा, हुगली, नदिया को विशेष रूप से सतर्क किया गया है। 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.