|

क्या आपने कभी देखा है 21लाख का बकरा,  जाने क्या है इसकी इसकी खासियत, बकरे पर कुदरती रूप से लिखा है अल्लाह 

धनबाद जिला अंतर्गत बाघमारा प्रखंड के सिंगड़ा पंचायत स्थित सिंगड़ा बस्ती के एक पशु पालक युवक जावेद अंसारी द्वारा पाला हुआ एक (बकरा) खस्सी के शरीर पर अरबी भाषा में अल्लाह और मुहम्मद नाम लिखा हुआ है। इस खबर को सुनकर लोग इसकी जियारत करने को आ रहे है। क्षेत्र में एक तरफ लोग बकरीद की तैयारी में जुटे हुए है, मुस्लिम लोग अपनी क्षमता अनुसार त्यौहार के मौके पर बकरे की खरीदारी कर रहे हैं। वहीं सिंगड़ा पंचायत के सिंगड़ा गाँव निवासी पशुपालक जावेद का बकरा अपनी एक खास विशेषता के चलते आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

बकरे पर अरबी भाषा में लिखा है अल्लाह

जावेद का दावा है कि उसके बकरे पर अरबी भाषा में अल्लाह और मुहम्मद शब्द लिखा हुआ है। जावेद के पास करीब एक दर्जन बकरें है, इन्हीं में अल्लाह रखा नाम का बकरा भी शामिल है। जावेद ने इस बकरे पर कुदरती रूप से कुछ लिखा देखा तो कुछ लोगों को इस बात की जानकारी दी, फिर कुछ जानकारों ने बकरे पर अरबी शब्द में अल्लाह एवं मुहम्मद लिखा होने की बात कही। यह सुनते ही जावेद ने अपने बकरे के बारे में लोगों तक इसकी जानकारी के लिये एक कार्यक्रम का आयोजन किया, इस आयोजन में कई औलेमाओ ने शिरकत की। वहीं बकरे के जियारत के लिये झारखण्ड के अलावा आस-पड़ोस के राज्यों से सैकड़ो की संख्या में लोग आए एवं बकरे की जियारत की।

बकरे पर कुदरती रूप अल्लाह लिखा होने से इसकी कीमत हुई 21 लाख।

रांची निवासी बकरे के लिए 10 लाख देने को तैयार

इस बावत जावेद से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि उनके पास कई लोगों का फोन आया। इस बीच राँची के एक व्यक्ति ने 10 लाख तक इनका हदिया (कीमत) देने की बात कही, परंतु उन्होंने उन्हें कुछ दिनों तक इंतजार करने को कहा। वही क्षेत्र के अनेक लोग भी इस बकरे को देखने व खरीदने पहुँच रहे हैं। उन्होंने आगे बताया कि यदि उसे अच्छी कीमत मिलती है तो इस बकरीद पर उसके परिवार की आर्थिक स्थिति सुधर जाएगी। साथ ही उस पैसों को वो गरीब लड़कियों के शादी में दान देंगे, उन्होंने इसका हदिया (कीमत) 21 लाख सात सौ 86 रुपये रखा हैं। वहीं इस्लाम के जानकारों का कहना है कि इस तरह नाम लिखा पाया जाना खुदा का ही करिश्मा है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.