हैवानियत : गर्भाशय के बदले झोलाछाप डॉक्टर ने निकाल ली दोनों किडनी,  मामला दबाने में ओपी प्रभारी निलंबित किए गये

MUZAFFARPUR BIHAR NEWS : बिहार के मुजफ्फरपुर में गर्भाशय के आपरेशन के नाम पर महिला की दोनों किडनी निकाल ली गई है। यह कारनामा एक झोलाछाप डॉक्टर ने किया है। इस मामले को दबाने में बरियारपुर ओपी प्रभारी राजेश कुमार राय को एसएसपी जयंतकांत ने निलंबित कर दिया है। उन पर इस घटना की सूचना को एक दिन तक छिपाए रखने का आरोप है। पेट दर्द की शिकायत के बाद बाजीराउत गांव की सुनीता बरियारपुर स्थित शुभकांत नर्सिंग होम में मां तेतरी देवी के साथ गई थीं। वहां चिकित्सक ने अल्ट्रासाउंड कराया और गर्भाशय में गांठ की बात कही। 

ऑपरेशन कराने के बाद बिगड़ने लगी थी तबीयत

महिला के पति अकलू राम ने तीन सितंबर को उसी नर्सिंग होम में पत्नी का आपरेशन कराया। इसके बाद सुनीता की तबीयत बिगड़ने लगी। इस पर नर्सिंग होम संचालक डा. पवन कुमार ने अपनी ही गाड़ी से पटना के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। वहां 24 घंटे रखने के बाद अस्पताल से निकाल दिया गया। वहां से स्वजन श्री कृष्ण मेडिकल कालेज एवं अस्पताल (एसकेएमसीएच) ले आए। यहां से डाक्टरों ने पीएमसीएच रेफर कर दिया। वहां अल्ट्रासाउंड में दोनों किडनी नहीं होने की बात पता चली तो आइजीआइएमएस रेफर कर दिया गया। वहां जगह नहीं मिलने पर परिजन घर ले आए। शुक्रवार को हालत बिगड़ने पर उसे सदर अस्पताल ले गए। 

सीटी स्कैन कराने के बाद पता चला नहीं है दोनों किडनी

वहां से एसकेएमसीएच रेफर कर दिया गया। शनिवार को उसका सीटी स्कैन कराया गया तो दोनों किडनी नहीं दिखाई दी। उसका आइसीयू वार्ड एक में इलाज चल रहा है।

इस मामले में डा. पवन कुमार, डा. आरके सिंह, जितेंद्र कुमार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। सभी फरार हैं। पुलिस उपाधीक्षक पूर्वी मनोज कुमार पांडेय ने बताया कि बरियारपुर ओपी प्रभारी राजेश कुमार राय ने इस मामले में वरीय पदाधिकारियों को सूचना नहीं दी। इसे देखते हुए उन्हें निलंबित कर दिया गया है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.