बुलंदशहर में अलीगढ़ की महिला रूबी खान ने सुरक्षा घेरे में  किया गणपति बप्पा का विसर्जन, कहा- मुझे मौलाना और उनके फतवों से नहीं लगता डर, गणेश की भक्ति मेरी आस्था

Bulandshahar, Aligarh Uttar Pradesh news : उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में अलीगढ़ की मुस्लिम महिला ने गणेश चतुर्थी के मौके पर अपने घर में भगवान गणपति बप्पा की प्रतिमा स्थापित की और पूजा-पाठ किया। इसका मुस्लिम समाज के कुछ लोगों ने विरोध जताया और महिला को इस्लाम से बहिष्कार करने की धमकी दे डाली है। भगवान गणेश की आस्था पर अडिग गणेश भक्त महिला ने बुलंदशहर के नरौरा घाट पहुंची और पुलिस सुरक्षा में पूर्जा-अर्चना कर मंत्रोच्चारण के साथ गंगा में गणेश की प्रतिमा का विसर्जन किया। 

गणेश की प्रतिमा विसर्जित करने के लिए अपने पति और दो बहनों के साथ गंगा घाट पहुंची

बताते चलें कि रूबी आसिफ खान अलीगढ़ में भाजपा महिला मोर्चा जयगंज की मंडल उपाध्यक्ष हैं। रूबी ने आठ दिन पूर्व अपने घर में गणेश चतुर्थी के मौके पर भगवान श्रीगणेश की मूर्ति स्थापित की और हरलीन दोनों टाइम पूजा-अर्चना की। हिंदू देवी-देवताओं में रूबी खान की श्रद्धा पर मौलवियों ने कड़ी आपत्ति जताई है। मौलवियों और कट्टरपंथियों ने उसे इस कृत्य के लिए इस्लाम से बहिष्कार करने का फतवा जारी कर दिया है। इससे घबराए बिना रूबी खान की भगवान गणेश के प्रति श्रद्धा और भक्ति जारी रही। बुधवार को वह अपनी कार से गणेश विसर्जन करने अलीगढ़ से बुलंदशहर पहुंची, उनकी सुरक्षा में दो पुलिसकर्मी में तैनात रहे। पुलिसकर्मियों की मदद से रूबी अपनी दो बहनों और पति आसिफ खान के साथ नरवर घाट पर पहुंची। जहां रूबी ने मंत्रोच्चारण कर भगवान गणेश की मूर्ति का विसर्जन किया। इस अवसर पर उन्होंने भगवान गणेश की मूर्ति स्थापित करने पर मुझे इस्लाम से बहिष्कार करने और मेरे परिवार को जिंदा जलाने की धमकियां दी गईं। इन धमकियों के बाद उन्होंने कहा कि मुझे फतवे और मौलानाओं से डर नहीं लगता है। जिस तरह से मैंने मूर्ति की स्थापना की थी, उसी तरह मैं पूरी लगन से मूर्ति विसर्जन करने आई हूं। 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.