जल्दबाजी में प्रशासन ने बोकारो में मृत व्यक्ति को बना दिया मजिस्ट्रेट, कर रहा विधि व्यवस्था की ड्यूटी

रांची में हुए हिंसक उपद्रव के बाद सुरक्षा को लेकर झारखंड सरकार इतनी रेस हुई कि जिन्दा तो जिंदा, मुर्दे को भी ड्यूटी पर लगा दिया। घबराइए नहीं सीधी बात करते हैं। हुआ यह कि मृत्युंजय कुमार भगतिया की पिछले साल कोरोना से मौत हो गई थी। मृत्युंजय कुमार प्रखंड तकनीकी पदाधिकारी के तौर पर चंदनकियारी में तैनात थे। अब मरने के बाद चाहे वह किसी भी लोक में विचरण कर रहे हो, मगर सरकार को उनकी सेवा की फिर से जरूरत पड़ी है। सो दिवंगत हो चुके मृत्युंजय को फिर से सरकार ने ड्यूटी पर लगाया है।

सूची में 55वें नंबर पर हैं स्वर्गीय मृत्युंजय का नाम

चास अनुमंडल क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में लगाए गए 61 मजिस्ट्रेटों की प्रतिनियुक्ति सूची में से एक नाम उनका भी है। बोकारो के उपायुक्त के निर्देशानुसार व सरकार के प्रधान सचिव, गृह,कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग के निर्देश पर चास के अनुमंडल पदाधिकारी ने साम्प्रदायिक तौर से संवदेनशीलता को देखते हुए 61 जगहों पर डियूटी लगाई गई है। प्रतिनियुक्ति सूची में 55 वें स्थान पर देवग्राम में मृत्युंजय कुमार भगतिया का नाम है। उनके नाम के साथ ही उन्हें प्रखंड तकनीकी प्रबंधक का पदनाम भी बताया गया है और इस सूची में उनका वकायदा उनका मोबाइल नंबर 9955001639 भी दिया गया है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.