दो वर्षों के बाद फिर बहाल की गई भारत-बांग्लादेश ट्रेन सेवा, कोरोना  को लेकर बंद की गई थी यह सेवा

भारत- बांग्लादेश के बीच ट्रेन सेवा कोराेना के चलते लगभग दो वर्ष से अधिक समय तक बंद रहने के बाद रविवार से एक बार फिर शुरू हो गई। रविवार को कोलकाता स्टेशन से बांग्लादेश के खुलना स्टेशन के लिए बंधन एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

बंधन एक्सप्रेस और मैत्री एक्सप्रेस का संचालन शुरू

ईस्टर्न रेलवे सियालदाह के पीआरओ और असिस्टेंट कॉमर्सियल मैनेजर एचएन गंगोपाध्याय ने रविवार को बताया कि आज से बंधन एक्सप्रेस और मैत्री एक्सप्रेस का संचालन फिर से शुरू किया जा रहा है। बांग्लादेश से अधिकतर यात्री घूमने, मेडिकल सेवा के लिए और खरीददारी के लिए भारत आते हैं। पहले दिन बंधन एक्सप्रेस पर सिर्फ 19 यात्री सवार थे। वहीं, मैत्री एक्सप्रेस में 100 यात्रियों ने अपनी यात्रा पूरी की। उन्होंने बताया कि समय बढ़ने के साथ इन ट्रेनों में भी भीड़ बढ़ेगी।

एक जून से मिताली एक्सप्रेस भी जाएगी ढाका

ईआर के प्रवक्ता एकलव्य चक्रवर्ती ने बताया कि भारत और बांग्लादेश के बीच यात्री रेल सेवा कोरोना के चलते दो वर्ष से बंद थी। रविवार सुबह यह सेवा 7.10 बजे कोलकाता स्टेशन से बंधन एक्सप्रेस के रवाना होने के साथ ही बहाल हो गई। बंधन एक्सप्रेस सप्ताह में दो दिन चलती है। जबकि कोलकाता से बांग्लादेश की राजधानी ढाका के लिए मैत्री एक्सप्रेस सप्ताह में पांच दिन संचालित होगी। चक्रवर्ती ने बताया कि भारत और बांग्लादेश के बीच रेल सेवा को और अधिक सुगम बनाने के लिए एक जून से मिताली एक्सप्रेस भी शुरू हो जाएगी। यह ट्रेन न्यू जलपाईगुड़ी से ढाका तक जाएगी।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.