भारत की चिंता बढ़ी : कंबोडिया में सैन्य अड्डा बनाने में जुटा चीन, नौसेना करेगी इस्तेमाल

हर तरफ से चीन को घेरने की कोशिश में जुटे भारत को अब चीन के नए कदम ने चिंता में डाल दिया है। कोरोना की मार झेलने के बाद भी चीन अपनी विस्तारवादी नीति  जारी रखे हुए है। ताजा मिली रिपोर्ट्स के अनुसार दक्षिण पूर्वी एशियाई देश कंबोडिया में चीन सैन्य अड्डा बना रहा है। इस सैन्य अड्डे का इस्तेमाल चीन की नौसेना करेगी। यह नौसैनिक सैन्य अड्डा भारत के अंडमान निकोबार द्वीप समूह से मात्र 1200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

यह चीन का विदेश में दूसरा नौसैनिक अड्डा होगा

जानकारी के अनुसार थाइलैंड की खाड़ी में कंबोडिया के रेआम नेवल बेस पर चीनी नौसेना की मौजूदगी सुनिश्चित कराने की पहल की गयी है। इसकी औपचारिक शुरुआत इसी माह जून में की जाएगी। कंबोडिया में चीनी सेना का नौसैनिक अड्डा बनाना चीन की दुनियाभर में सैन्य सुविधा केंद्र बनाने की रणनीति का हिस्सा है। इसके माध्यम से चीन असली वैश्विक ताकत बनने का सपना पूरा करना चाहता है। अफ्रीका के जिबूती के बाद यह चीन का विदेश में दूसरा नौसैनिक अड्डा होगा। 

हिंद- प्रशांत क्षेत्र में चीन की स्थिति होगी मजबूत

यह सैन्य अड्डा रणनीतिक रूप से अत्यधिक महत्वपूर्ण माने जाने वाले हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन का पहला नौसैनिक अड्डा होगा। इससे दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के आसपास के समुद्र में चीनी नौसेना की उपस्थिति मजबूत होगी। पहले चीन ने ऐसे किसी प्रयास का खंडन कर कहा था कि वह सिर्फ सैन्य प्रशिक्षण दे रहा है। अब चीन के एक अधिकारी ने पुष्टि की है कि इस नौसैनिक अड्डे का इस्तेमाल उसकी सेना करेगी।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.