CM हेमंत की विस सदस्यता पर सस्पेंस जारी, महागठबंधन के MLA ने दिखाई एकजुटता, BJP सांसद निशिकांत ने…

Jharkhand News : झारखंड में सियासी तापमान हाई है। सबकी नजरें राजभवन की ओर हैं। दो-तीन दिनों से यह चर्चा तेज है कि चुनाव आयोग ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की विधानसभा की सदस्यता समाप्त करने की सिफारिश राज्यपाल से की है, लेकिन इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि कहीं से नहीं हो रही है। अभी तक राज्यपाल की ओर से सरकार को भी स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा गया है।

चुनाव आयोग की अनुशंसा को लेकर 26 अगस्त की शाम तक राज्यपाल का कोई आदेश नहीं आया है। इस बीच सीएम हाउस में यूपीए के विधायकों ने बैठक कर हेमंत सोरेन के नेतृत्व और गठबंधन सरकार के प्रति एकजुटता जताई। बैठक के बाद विधायकों ने मीडिया से कहा कि राज्य में किसी तरह का सियासी संकट नहीं है। हम हर परिस्थिति के लिए तैयार हैं। हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाली सरकार हर हाल में चलती रहेगी। बैठक के बाद सीएम हेमंत सोरेन नेतरहाट में आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए रवाना हो गये। 

सरकार के मंत्री विधायक जा रहे छत्तीसगढ़ निशिकांत दुबे ने किया दावा

इस बीच बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने ट्वीट करते हुए दावा किया कि यूपीए के विधायकों को छत्तीसगढ़ ले जाया जा रहा है, लेकिन सरकार के मंत्रियों और विधायकों ने इसे सिरे से खारिज कर दिया। शुक्रवार शाम को सीएम के रांची लौटने के बाद गठबंधन के सभी विधायकों को सीएम हाउस में डिनर पर आमंत्रित किया गया है।

 महागठबंधन का प्लान A,B,C

आदिवासी कल्याण मंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि हेमंत सोरेन हमारे नेता हैं और आगे भी बने रहेंगे, इसमें कोई संदेह नहीं है। शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने भी कहा कि सरकार पर न तो कोई खतरा है और न ही मुख्यमंत्री बदलने जा रहे हैं। कांग्रेस विधायक शिल्पी नेहा तिर्की ने कहा कि वर्तमान हालात को राजनीतिक संकट नहीं कहा जा सकता। निर्वाचन आयोग से क्या अनुशंसा आई है और उस पर राज्यपाल का क्या निर्णय आता है, हम सभी को उसका इंतजार करना चाहिए। जो भी आदेश आता है, उसके हिसाब से गठबंधन के पास प्लान ए, बी, सी है।

झामुमो का दावा BJP के 16 विधायक हमारे संपर्क में

झारखंड मुक्ति मोर्चा कोर कमेटी के सदस्य सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि लोकतंत्र में सरकार जन समर्थन से चलती है। हेमंत सोरेन को 50 विधायकों का समर्थन हासिल है। उन्होंने यहां तक दावा किया के बीजेपी के भी 16 विधायक हमारे संपर्क में हैं। जब उनसे पूछा गया कि इसका आधार क्या है? तो उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी के प्रति उनकी आस्था है। उन्होंने कहा कि हमलोग पूरी तरह इंटैक्ट हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.