कोरोना काल में भारत में हीरो बनकर उभरीं इस पूर्व स्वास्थ्य मंत्री को मिलना था मैग्सेसे अवॉर्ड, CPM ने ठुकराया…

Kerala News  : रेमन मैग्सेसे अवार्ड मिलना एशिया में फक्र की बात होती है। अवार्ड समिति ने कुछ सप्ताह पहले केरल की पूर्व स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा को 64वें मैग्सेसे पुरस्कार के लिए चुना था। हालांकि, उन्होंने अपनी पार्टी CPM के आदेश के बाद इसे ठुकरा दिया है। शैलजा को निपाह के प्रकोप और कोविड-19 महामारी के दौरान एक स्वास्थ्य मंत्री के रूप में उनके कार्यों को लेकर इस अवार्ड के लिए चुना गया था। माकपा ने रेमन मैग्सेसे को कम्युनिस्टों का उत्पीड़क करार दिया है। साथ ही पार्टी का कहना है कि केरल में कोविड के खिलाफ एक सामूहिक लड़ाई लड़ी गई थी।

सीताराम येचुरी ने कहा…

CPM महासचिव सीताराम येचुरी ने 4 सितंबर को कहा कि पार्टी नेतृत्व ने फिलीपींस में कम्युनिस्टों के उत्पीड़क रेमन मैग्सेसे के नाम पर दिए जाने वाले पुरस्कार को अपनाने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा, “शैलाजा को एक व्यक्ति के रूप में चुना गया था। लेकिन, कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई किसी एक व्यक्ति की उपलब्धि नहीं थी। वैसे भी नेताओं के लिए मैग्सेसे पुरस्कार नहीं माना जाता है।” येचुरी ने कहा कि रेमन मैग्सेसे कम्युनिस्ट विरोधी थे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.