Latest Hindi news : आयुष मंत्रालय के आईएमपीसीएल के मुनाफे में तीन गुना बढ़ोतरी

*पिछले एक साल में कमाये 45.41 करोड़ रुपये, कम्पनी ने आयुष मंत्रालय को दिये 9.93 करोड़ रुपये का लाभांश

Latest national news : आयुष मंत्रालय के तहत आने वाले केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम इंडियन मेडिसिन फार्मास्युटिकल कॉरपोरेशन (आईएमपीसीएल) के मुनाफे में तीन गुना बढ़ातरी हुई है। कम्पनी ने साल 2021-22 में 45.41 करोड़ रुपये की कमाई की है। कम्पनी ने अपने हितधारकों आयुष मंत्रालय और उत्तराखंड सरकार को 10.13 करोड़ रुपये का लाभांश देने की घोषणा की है। कम्पनी ने केन्द्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल को आयुष मंत्रालय के लिए 9.93 करोड़ रुपये का लाभांश चेक सौंपा गया।

सर्बानंद सोनोवाल बोले – सराहनीय उपलब्धि 

मौके पर सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि आईएमपीसीएल लिमिटेड ने पिछले वित्तीय वर्ष 2020-21 की तुलना में अपने मुनाफे में प्रभावशाली वृद्धि दर्ज की है, जो एक सराहनीय उपलब्धि है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में, आयुष क्षेत्र न केवल भारत में बल्कि विश्व स्तर पर सर्वांगीण विकास कर रहा है। आईएमपीसीएल लिमिटेड के महाप्रबंधक डॉ. मुकेश कुमार ने कहा कि परिचालन के मोर्चे पर कंपनी ने अपने पिछले वर्ष की तुलना में क्षमता उपयोग में 47 प्रतिशत की वृद्धि हासिल की है। पिछले वर्षों में कारोबार, लाभ और क्षमता उपयोग के मामले में प्रदर्शन में समग्र वृद्धि ने कंपनी की भविष्य की सम्भावनाओं पर ध्यान केन्द्रित किया है।

इस मौके पर आयुष राज्य मंत्री मुंजपारा महेंद्रभाई, विशेष सचिव, आयुष मंत्रालय प्रमोद कुमार पाठक, योग और प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ के निदेशक विक्रम सिंह मौजूद थे।

भारत सरकार ने मिनी रत्न श्रेणी दो का दर्जा दिया

गौरतलब है कि आईएमपीसीएल लिमिटेड को भारत सरकार द्वारा मिनी रत्न श्रेणी दो का दर्जा दिया गया है और इसे आईएसओ 9001:2015 प्रमाणन भी मिला है। कम्पनी वर्तमान में विभिन्न रोगों के स्पेक्ट्रम के लिए 656 शास्त्रीय आयुर्वेदिक, 332 यूनानी और 71 मालिकाना आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण कर रही है। यह राष्ट्रीय आयुष मिशन और जन औषधि केन्द्रों के 6000 केन्द्रों के तहत सभी राज्यों को आयुर्वेद और यूनानी दवाओं की आपूर्ति करता है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *