शिंदे भले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री हों, पूर्व CM उद्धव ने शिवसेना से उन्हें दिखाया बाहर का रास्ता, पार्टी विरोधी…

Maharashtra News : एकनाथ शिंदे भले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बन गया हूं मगर अब वह किसी पार्टी के सदस्य नहीं है राज्य के पूर्व चीफ मिनिस्टर उद्धव ठाकरे ने उन्हें पार्टी के नेता पद से हटा दिया है। ठाकरे ने शिंदे पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने और पार्टी तोड़ने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। बता दें कि बालासाहेब ठाकरे ने शिवसेना में रहते हुए शिवसेना प्रमुख के पद के बाद ‘शिवसेना नेता’ पद का सृजन किया था। पार्टी में सबसे बड़ा पद शिवसेना प्रमुख का होता है। ‘शिवसेना नेता’ पार्टी के नीति निर्धारण में भाग लेते हैं।

शिवसेना प्रमुख के नाते जारी किया पत्र

पार्टी की तरफ से जारी पत्र में शिवसेना सुप्रीमो ठाकरे ने कहा कि मुख्यमंत्री पद के लिए शिंदे पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहे हैं और उन्होंने स्वेच्छा से अपनी सदस्यता छोड़ दी है। उद्धव ठाकरे की साइन की गई चिट्‌ठी में कहा गया है, ‘शिवसेना प्रमुख के रूप में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए मैं आपको पार्टी संगठन में शिवसेना नेता के पद से हटाता हूं।’

सरकार के बाद अब शिवसेना की लड़ाई

महाराष्ट्र में 10 दिनों तक चले सियासी हलचल के बाद एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बन चुके हैं। भाजपा के देवेंद्र फडणवीस को डिप्टी CM बनाया गया है। CM बनने के बाद और उससे पहले भी एकनाथ शिंदे अपने गुट को असली शिवसेना बताते हुए कह रहे हैं कि वह बाल ठाकरे के हिंदुत्व के रास्ते पर चल रहे हैं। अब शिवसेना की लड़ाई संवैधानिक और कानूनी रास्ते पर आ चुका है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.