बिहार समेत देश के तीन प्रांतों में 20 जगहों पर एनआइए की छापेमारी, फुलवारीशरीफ में पीएफआइ के आतंकी माड्यूल की जांच को लेकर कार्रवाई

BIHAR NEWS : पीएफआइ की देश विरोधी गतिविधि और आतंकी फंडिंग की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National investigation agency) ने गुरुवार को बिहार के नौ जिलों सहित तमिलनाडु, कर्नाटक के 20 जगहों पर छापेमारी की। बिहार में पटना के फुलवारीशरीफ के साथ -साथ छपरा, बिहारशरीफ, वैशाली, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, मधुबनी, कटिहार और अररिया के एक दर्जन से अधिक ठिकानों पर एनआईए ने दबिश दी है।। इसके अलावा तमिलनाडु के शिवगंगा और कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में भी पीएफआइ मामले में छापेमारी हुई है।

फुलवारीशरीफ टेरर मॉड्यूल केस से जुड़े लोगों के यहां भी एनआईए ने दी है दबिश

छापेमारी के दौरान पीएफआइ के साथ-साथ सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी आफ इंडिया (एसडीपीआइ) के प्रदेश अध्यक्ष और अन्य सदस्यों के ठिकानों में भी सर्च अभियान चलाया गया। इस दौरान उन लोगों के ठिकानों पर भी छापेमारी हुई, जिनका नाम फुलवारीशरीफ आतंकी माड्यूल मामले के केस में दर्ज है। मालूम हो कि जुलाई में विधानसभा के शताब्दी समारोह के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पटना आगमन से दो दिन पूर्व आइबी की सूचना पर हुई कार्रवाई में फुलवारीशरीफ टेरर माड्यूल का पर्दाफाश हुआ था।  इस मामले में 12 जुलाई को 26 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी। इसमें 22 लोग अभी भी फरार हैं। सिमी से जुड़े अतहर परवेज, झारखंड से रिटायर सब इंस्पेक्टर मो जलालुद्दीन खां, अरमान मलिक और मोहम्मद दानिश को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

सुबह सात बजे से ही शुरू हो गई थी छापेमारी

सुबह करीब सात बजे पटना के फुलवारीशरीफ के गोनपुरा मोहल्ले में एनआइए ने मो अमीन और मो खलीकुर्जमा के घरों पर छापेमारी की। मो अमीन बीएड कालेज में क्लर्क है, जबकि खलीकुर्जमा जमीन कारोबार से जुड़ा है। छपरा निवासी सरकारी शिक्षक परवेज आलम के घर पर भी छापा मारा गया। बिहारशरीफ में एसडीपीआइ के फरार प्रदेश अध्यक्ष शमीम अख्तर के घर पर भी दबिश दी गई। वैशाली में पीएफआइ से जुड़े मो. रेयाज के ठिकानों की भी तलाशी ली गई। कटिहार के मुजफ्फर टोला में पीएफआइ के प्रदेश अध्यक्ष महबूब आलम के घर और कठौतिया में सक्रिय सदस्य अब्दुल रहमान के घर तलाशी ली। 

मुजफ्फरपुर, दरभंगा और मधुबनी में भी कार्रवाई

मुजफ्फरपुर, दरभंगा, मधुबनी में दो-दो स्थानों पर छापेमारी की गई। दरभंगा के लहेरियासराय थाना क्षेत्र के उर्दू मोहल्ला स्थित दानिश लाज में एनआइए ने साढ़े सात घंटे तक 20 कमरों को खंगाला। यहां रहने वाले  50 छात्रों से पूछताछ की गई। लाज से कुछ ही दूरी पर लखनऊ से गिरफ्तार अधिवक्ता नुरुद्दीन जंगी का घर है। दरभंगा में शंकरपुर गांव स्थित पीएफआइ के फरार सदस्य मुस्तिकीम के घर की तलाशी ली। यहां से दो मोबाइल और 13 पन्नों की एक पुस्तक टीम ने जब्त किया। वहीं, मधुबनी के बलुआ टोला में मो. अंसारुल हक उर्फ मो. अंसार के घर पर भी एनआइए पहुंची, लेकिन अंसार नहीं मिला। 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.