अंकिता को पेट्रोल छिड़ककर जिंदा जलाने के आरोपी शाहरुख और नईम पर शिकंजा कसने में जुटी पुलिस, बड़ी मेहनत के बाद मिला सरकारी गवाह

पेट्रोल छिड़ककर उपराजधानी दुमका की बेटी को जिंदा जलाने के आरोपी शाहरुख और उसके सहयोगी नईम पर शिकंजा कसने के लिए पुलिस सबूत जुटाने के लिए पूरी तन्मयता के साथ काम कर रही है। इस केस में बड़ी मेहनत के बाद पुलिस को एक सरकारी गवाह मिल गया है। दुमका पुलिस ने कोर्ट में उसका बयान भी दर्ज करवा दिया है। पुलिस ने शुक्रवार को अंकिता के घर की ड्रोन से फोटोग्राफी भी करवाई। 

पांच को बाल संरक्षण आयोग की टीम आएगी दुमका

मिली जानकारी के अनुसार पांच सितंबर को बाल संरक्षण आयोग की टीम झारखंड की उप राजधानी दुमका आएगी। अंकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपी शाहरुख हुसैन और नईम की 72 घंटे की रिमांड अवधि शनिवार को खत्म हो जाएगी। इसके बाद पुलिस दोनों को शनिवार की सुबह जेल भेज देगी।

बता दें कि अंकिता हत्याकांड में पुलिस को अब तक कोई गवाह नहीं मिला था। लेकिन पुलिस सरकारी गवाह जुटाने के लिए कड़ी मेहनत कर रही थी। इस क्रम में पुलिस को बाबूपाड़ा के एक युवक के बारे में जानकारी मिली। युवक के पास अंकिता मामले की पूरी जानकारी थी। 30 अगस्त से पुलिस उस युवक से कड़ी पूछताछ कर रही है। उस युवक को शुक्रवार को ही अदालत में प्रस्तुत किया गया। वह इस हत्याकांड में सरकारी गवाह बनने को तैयार हो गया है। बताया जा रहा है कि युवक के सरकारी गवाह बनने से इस केस को बल मिलेगा। ‌

ड्रोन से कराई गई अंकिता के घर की फोटोग्राफी

शुक्रवार की दोपहर डीएसपी विजय कुमार ड्रोन कैमरे के साथ अंकिता के घर पहुंचे। उन्होंने ड्रोन कैमरे से अंकिता के घर की विस्तृत फोटोग्राफी कराई। इस दौरान पुलिस ने अंकिता के घर की माफी भी करवाई। बताया जा रहा है कि पुलिस अपना साक्ष्य मजबूत करने के लिए ऐसा कर रही है। शुक्रवार को ही अंकिता के परिजनों से महिला आयोग की टीम ने विस्तृत बातचीत की। इस दौरान आयोग की टीम ने हत्याकांड को लेकर कई सवाल भी परिजनों से पूछे। हालांकि इस मामले में पुलिस फूंक-फूंक कर कदम रख रही है। वह मीडिया से कुछ भी साझा करने से परहेज कर रही है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.