| | |

टूट रहीं धार्मिक मान्यताएं और परंपराएं, यहां बात-बात में लफड़े और बात-बात में तलाक, शादी अब सात जन्मों का बंधन नहीं

Fast changing society and broken marriages :  भारत जैसे देश में भी शादी अब कुछ हद तक सात जन्मों के बंधन सरीखे परंपरा नहीं रही। बात-बात में लफड़े और बात-बात में तलाक। हालांकि, वैश्विक आंकड़ों की तुलना में भारत में इसकी  दर बहुत ही कम है। यूं कहें हाई-फाई सोसाइटी में यह कहीं अधिक है। सवाल यह कि चंद दिनों में ही आखिर ये शादियां क्यों टूट रही, आपस मे मनमुटाव क्यों हो रहा, सहन शक्ति का इतना ह्रास क्यों हो रहा है। हम कह सकते हैं कि तेजी से पश्चिम का अनुकरण, दिखावा, खुले में रहने की आदत, एकल परिवार, शादी के समय लड़के अथवा लड़की से जुड़े तथ्य छिपाया जाना आदि जैसे कई कारण हो सकते हैं। हाल में हुए सर्वे पर गौर करें तो कुछ हद तक ही सही, तलाक की स्थितियां स्पष्ट हो सकेंगी, आइये डालते हैं एक नजर…

– एक की पत्नी ने शादी के कुछ ही महीने बाद सिर्फ इसलिए तलाक की अर्जी लगा दी कि हनीमून पर उसके पति ने उसे सपोर्ट नहीं किया। यहां शारीरिक अक्षमता सामने आया और वह अपने पति से अलग हो गई।

– नाम सार्वजनिक नहीं करने की शर्त पर एक शख्स ने बताया कि मेरी पत्नी ने मेरे चचेरे भाई के साथ मिलकर मुझे धोखा दिया। ऐसे में तलाक के अलावा अन्य चारा नहीं था।

– एक अन्य शख्स के अनुसार उसके दोस्त को शराब की लत थी। एक दिन गुस्से में आकर दोस्त की पत्नी ने यह कह डाला कि अगर वह शराब पीना बंद नहीं करेगा तो वह उसके पास नहीं आएगा। बस इतनी सी बात पर दोस्त ने उसे छोड़ दिया।

– राकेश (बदला हुआ नाम) को साफ-सफाई बहुत पसंद था, जबकि उसकी पत्नी इस मामले में बेहद लापरवाह। उसने उसे बहुत समझाया, परंतु पत्नी की आदत नहीं सुधरी। इस बात को लेकर एक दिन इस हदतक कहा सुनी हुई कि दोनों ने एक-दूसरे को तलाक दे दिया था।

– एक अन्य घटनाक्रम में लड़के को शादी के बाद पता चला कि उसकी पत्नी की मानसिक स्थिति अच्छी नहीं है। वह गर्मी में खुली छत पर घंटों बैठी रहती। पूछने पर सिर्फ रोती रहती। ऐसे में यह शादी भी शादी के कुछ ही महीने बाद टूट गई।

– एक युवक ने ईसाई लड़की से शादी की तो उसके घर वाले उसे हर दिन ईसा मसीह की कहानी सुनाने में जुट गए। इसे लेकर हम दोनों के बीच बहस शुरू होने लगी। जब बच्ची का जन्म हुआ तो उसका बपतिस्मा संस्कार किया जाने लगा। दोनों एक-दूसरे के धर्म को अपनाने की जिद पर अड़ गए, जिसका दुखद परिणाम तलाक के तौर पर

सामने आया।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *