| |

Research : ट्रायल सफ़ल हुई तो जल्द ही मिलेगा लैब में तैयार ब्लड 

Latest Health News: ब्रिटेन के विज्ञानियों की पहली  क्लिनिकल ट्रायल यदि सफल हो जाती है तो लोगों को लैब में तैयार खून मिल सकता है। विज्ञानियों के द्वारा  ट्रायल के तहत लोगो को लैब से तैयार  दिया गया। शोधकर्ताओं का कहना है कि यदि यह सुरक्षित और प्रभावी साबित होता है, तो निर्मित रक्त कोशिकाएँ (blood cells) दुर्लभ रक्त विकार(Rare blood disease)वाले लोगों के लिए समय पर उपचार से एक चिकित्सा के क्षेत्र में एक बड़ी  क्रांति आ सकती हैं। विज्ञानियों ने कहा कि सिकल सेल जैसे विकार और दुर्लभ रक्त विकार (chronicles blood Diseases ) से सम्बंधित कुछ लोगों के लिए पर्याप्त मात्रा में donated blood मिलना मुश्किल होता है. ऐसे लोगों के लिए यह रक्क्त वरदान साबित हो सकता है।

लैब में विकसित WBC अधिक समय तक रहेगी सुरक्षित 

कैंब्रिज विश्वविद्यालय और एनएचएस ब्लड एंड ट्रांसप्लांट के प्रोफेसर व मुख्य अन्वेषक सेड्रिक घेवार्ट ने कहा कि  हमारी प्रयोगशाला में विकसित लाल रक्त कोशिकाएं(WBC) रक्त दाताओं से आने वाली शेल्स की तुलना में अधिक समय तक रहेंगी. ऐसी मुझे उम्मीद है। 

ब्लड डोनर के स्टेम सेल से विकसित होगी रेड सेल

Cambridge university के शोधकर्ताओं की टीम ने कहा कि रक्त कोशिकाओं (Red cells) को दाताओं के स्टेम सेल से विकसित किया गया था। इसे Healthy Donor में स्थानांतरित किया गया. दो लोगों को अब तक लैब में तैयार लाल रक्त कोशिकाएं(WBC) दी गई हैं। इनकी निगरानी की जा रही है, अभी तक उनमें किसी ही तरह के कोई डिसॉर्डर  नहीं देखने को मिला है. इस ट्रायल में यह भी देखा जा रहा है कि एक ही रक्तदाता(Donor) से लाल रक्त कोशिकाओं(WBC ) के संक्रमण की तुलना में लैब  में विकसित शेल्स के जीवनकाल का अध्ययन किया जा रहा है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.