आरा शहर की जर्जर सड़कों को देख भड़के सांसद आरके सिंह, बोले- नगर निगम के मेयर-पार्षद चोर- डकैत है, डंडा मारकर ठीक करेंगे 

Ara, Bihar letest news: आरा की जर्जर सड़कों को देखकर केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री और आरा के सांसद राजकुमार सिंह (RK Singh) का अचानक गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार नागरिक सुविधाओं के लिए इतने सारे पैसे देती है और धरातल पर काम नहीं होता है तो बड़ा ही दुख होता है। आरा की सड़कों की स्थिति को देखकर ऐसा महसूस होता है कि यहां के मेयर और पार्षद चोर और डकैत हैं। ऐसे लोगों को जनता क्यों चुनती है। यह समझ से परे है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को डंडा मारकर ठीक करेंगे। सड़कों की जर्जर स्थिति के लिए उन्होंने स्थानीय विधायक को भी नहीं बख्शा। उन्होंने कहा कि विधायक का फर्ज है कि वह विकास योजनाओं पर पैनी नजर रखें। लेकिन हमारे विधायक ऐसा करने में नाकाम रहे हैं। बता दें कि सांसद आरके सिंह आरा के कलेक्टर घाट पर आयोजित एनटीपीसी के कार्यक्रम में बोल रहे थे। वह 29.40 लाखों रुपए की लागत से बने हाई मास्क लाइट का उद्घाटन करने आरा पहुंचे थे।

सड़कों की दुर्दशा के लिए मेयर और पार्षद जिम्मेदार

उन्होंने कहा कि आरा में काफी तेज गति से विकास कार्य हुआ है। 5 से 7 वर्षों में आरा शहर की स्थिति पहले से कई गुना बेहतर हुई है। लेकिन सड़कों की स्थिति देखकर दुख होता है। उन्होंने कहा कि इसके लिए सीधे तौर पर नगर निगम के मेयर और पार्षद जिम्मेदार हैं। अगर वे लोग शहर के विकास के प्रति समर्पित नहीं हैं तो जनता को उनके बारे में एक बार जरूर विचार करना चाहिए। 

आप मुझे वोट दें या ना दें मैं सच बोलूंगा : सांसद

सांसद ने कहा कि आप मुझे वोट दीजिए या न दीजिए। मैं सच बात बोलूंगा। मेरी जो जिम्मेदारी और जवाबदेही है, उसके लिए मैं अपना सौ फीसद देता हूं। मुझे भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारी लोग बिल्कुल ही पसंद नहीं है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार लोकतंत्र का कोढ़ है। अगर समय रहते इसका उपचार न किया गया तो आगे चलकर स्थिति और गंभीर हो जाएगी। उन्होंने कहा कि देश के हर गांव में बिजली पहुंच चुकी है। ऐसा होना देश और खासकर मेरे लिए बहुत बड़ी बात है। क्योंकि यह जिम्मेदारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुझे ही सौंपी थी। मैंने इस कार्य को चुनौती के रूप में लिया और निर्धारित समय में लक्ष्य को पूरा किया।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *