खुद को राजकुमार बताने वाला शाहरुख अब सलाखों के पीछे, केस वापस लेने के लिए पीड़िता को विदेश से आ रहे धमकी भरे व्हाट्सएप कॉल, पुलिस जांच में जुटी

Rudrapur Uttrakhand Love Jihad Case : उत्तराखंड में शादी करने से इन्कार करने पर छात्रा को दुमका जैसा कांड करने की धमकी देने वाले शाहरुख को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया है। इधर, इस मामले में शाहरुख पर दर्ज कराए गए केस को वापस लेने के लिए पीड़िता को विदेश से धमकी भरी वाट्सएप कॉल आ रहे हैं। पुलिस अब इस मामले में लव जेहाद के कनेक्शन की भी जांच कर रही है। पुलिस अब आरोपित शाहरुख को रिमांड पर लेकर फंडिंग और वाट्सएप काल की गहराई से जांच करेगी। 

सच्चाई जानने के बाद लड़की ने बना ली थी दूरी

मामले की जानकारी देते हुए एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने कहा  कि गदरपुर निवासी युवती के घर एक साल पहले युवक सीसीटीवी कैमरे लगाने गया था। इस दौरान युवक ने अपना नाम गदरपुर ब्लाक निवासी राजकुमार बताया। इसके बाद उसने युवती से मेलजोल बढ़ाकर मिलना-जुलना शुरू कर दिया। बाद में जब युवती को पता चला कि राजकुमार का असली नाम शाहरुख है तो उसने उससे दूरी बना ली। युवती द्वारा ऐसा किए जाने से शाहरुख बेहद खफा हो गया और वह छात्रा को येन प्रकारेण प्रताड़ित करने लगा। इसी क्रम में उसने युवती को धमकी दी थी कि यदि वह उससे शादी नहीं करेगी तो उसका भी वही हाल होगा जो पिछले दिनों झारखंड के दुमका में अंकिता के साथ हुआ। बता देगी झारखंड में दुमका की अंकिता को उसके प्रेमी ने शादी नहीं करने पर उसे पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया था।

शाहरुख व राजकुमार के नाम से दो आधार कार्ड

इसी सात सितंबर को शाहरुख ने युवती को गाबा चौक पर बुलाया और उस पर साथ चलने का दबाव बनाने लगा। इसकी शिकायत पर पुलिस ने आरोपित को पूछताछ के लिए बुधवार को हिरासत में लिया था। उसके पास से राजकुमार और शाहरुख नाम से दो आधार कार्ड भी बरामद हुए हैं। बुधवार रात ही पीड़ित युवती के पास विदेश से दो-तीन बार वाट्सएप काल आई। इसमें उस पर शाहरुख के विरुद्ध दर्ज केस वापस लेने का दबाव बनाया गया। एसएसपी ने बताया कि पीड़िता के पास विदेश से आए धमकी भरे काल की जांच की जा रही है। सीडीआर निकाली जाएगी। इसके साथ ही आरोपित के लव जिहाद कनेक्शन की जांच की जा रही है। आरोपित को फंडिंग तो नहीं हो रही थी, इसकी जांच के लिए उसका बैंक खाता भी चेक किया जाएगा।  

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.