हैरत पूर्ण घटना : पिता की पिस्टल को खिलौना समझ दो मासूम भाई घर में खेल रहे थे चोर सिपाही का खेल, इसी दौरान चल गई गोली और छोटे भाई की हो गई मौत

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर‌ जिला अंतर्गत बिवांर थाना क्षेत्र में एक हृदय विदारक घटना हो गई है। यहां दो सगे मासूम भाई आपस में चोर सिपाही का खेल घर में ही खेल रहे थे। इसी दौरान 6 वर्षीय बड़े भाई मयंक में अलमारी में रखी पिस्टल को खिलौना समझ कर अपने हाथ में ले लिया। इसके बाद ना समझी में पिस्टल से फायरिंग हो गई और गोली उसके छोटे भाई सिद्धार्थ को जा लगी। इससे सिद्धार्थ की मौत हो गई। 

अलमारी में थी पिस्टल, बच्चे ने खिलौना समझ ले लिया

इस घटना के बाद उमरी निवासी जयराम कुशवाहा ने थाना बिवांर में दी हुई तहरीर में बताया कि वह मुस्करा ब्लॉक के बिहूनी खुर्द और बिहूनी कलां गांव में सचिव पद पर तैनात हैं। बताया कि सुबह लगभग साढ़े नौ बजे जब वह ड्यूटी पर जाने के लिए तैयार हो रहे थे। उसी दौरान अलमारी खुली पाकर उनके पुत्र मयंक (साढ़े छह वर्ष) ने उसमें रखी पिस्टल कब निकाल ली उन्हें पता भी नहीं चला।‌ 

गोली की आवाज सुन पिता दूसरे कमरे की ओर  दौड़े

जब गोली चलने की आवाज उन्होंने सुनी तो वे भागे भागे कमरे की ओर दौड़े तो देखा कि उनका छोटा पुत्र फर्श पर लहूलुहान होकर गिर पड़ा है। वही उनके बड़ा पुत्र मयंक हाथ में पिस्टल लिए हुए था और भाई को उठा रहा था। यह दृश्य देखते ही उन्हें समझने में देर नहीं लगी की खेल खेल में गोली चल गई है और वही गोली बेटे को लगी है। आनन-फानन में पिता ने आपने घायल बेटे को सदर अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इस हैरतअंगेज घटना के बाद मृतक के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। वे समझ नहीं पा रहे हैं आखिर इस मामले में इस को दोषी माना जाए।

मां का रो -रोकर बुरा हाल, पूरा गांव सदमे में

बता दें कि सचिव जयराम कुशवाहा के 2 पुत्र थे, लेकिन इस घटना में उन्होंने एक पुत्र को खो दिया। जय राम को एक बेटी भी है। इस घटना को लेकर इंस्पेक्टर चित्रसेन सिंह ने बताया कि घटना बच्चों के खेल-खेल में हुई है। पिस्टल बरामद कर ली गई है, बच्चे का पोस्टमार्टम करा कर परिजनों को बचेगा शव सौंप दिया गया है। घर के चिराग की मौत से मां का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। इस घटना से पूरा का पूरा गांव सदमे में है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.