Shraddha Murder Case : श्रद्धा के कातिल आफताब को नहीं है अपने किए पर पछ्तावा, जज से कही ये बात 

Shraddha Murder case latest news : श्रद्धा हत्याकांड का आरोपी आफताब आमीन पूनावाला को अपनी प्रेमिका की हत्या का कोई भी पछ्तावा नहीं है। उसने जज के सामने अपना जुर्म कबूल करते हुए कहा कि जो कुछ भी हुआ हीट ऑफ द मोमेंट था( वह बिना सोचे समझे गुस्से में किया) । दिल्ली के साकेत कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आफताब की कोर्ट में पेशी हुई थी। सुनवाई के बाद कोर्ट ने आफताब की पुलिस हिरासत अगले 4 दिन के लिए बढ़ा दी है।

कोर्ट को बताया- वह पुलिस को सहयोग कर रहा 

पेशी के दौरान उस अपना जुर्म कबूल करते हुए खुलकर हत्या के वारदात की जानकारी दी।उसने जज को बताया कि वह इतने गुस्से में था कि पहले श्रद्धा की हत्या की उसके बाद शव के टुकड़े कर दिये । आफताब ने कोर्ट में कहा कि वह पुलिस को जांच में सहयोग कर रहा है।  उसने वारदात की पूरी जानकारी दी है। उस जगह पुलिस को ले जाकर दिखाया है जहां शव के टुकड़े फेंके गए थे।  आफताब ने कहा कि पुलिस जो भी पूछ रही है वह सब बता रहा है और आगे भी सब कुछ बताएगा। घटना के कुछ  दिन बीत जाने के कारण  वह कई चीजों को याद नहीं कर पा रहा है।  आफताब के वकील ने बताया कि उसे याद नहीं है कि वह आरी कहा से खरीदी। वह तालाब का भी मैप भी बनाया है, जहां उसने श्रद्धा का सिर फेंका था ।

मैदानगढ़ी के तालाब से हड्डियां बरामद , जांच में भेजा 

इस बीच पुलिस ने दिल्ली के मैदानगढ़ी के तालाब से गोतखोरों की मदद से  हड्डियां बरामद किया है जिसे पुलिस  सबूत  के तौर पर इस्तेमाल कर रही है। पुलिस को शुरुआती जांच में  ये हड्डियां इंसान के हाथ की लग रही हैं। जिसे  जांच के लिए सीएफएसएल भेज दिया है। पुलिस गोतखोरों की मदद से खोपड़ी तलाश करवा रही  है, जो  अभी तक नहीं मिल पाया पुलिस को आशंका है कि खोपड़ी इसी तालाब में हो सकती है।उसे सिर्फ खोपड़ी का निचला हिस्सा यानी जबड़ा मिला है, जिसको जांच के लिए सीएफएसएल पहले ही भेजा जा चुका है। 

 पुलिस को मिला और चार दिन का रिमांड 

आरोपी आफताब की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए साकेत कोर्ट में पेश किया गया, जिसके बाद कोर्ट ने 4 दिनों की रिमांड बढ़ा दी। इस केस में पुलिस पहले ही आफताब को 10 दिन की कस्टडी पर ले चुकी थी। किसी भी केस में आरोपी को जेल भेजने से पहले  14 दिन तक पुलिस कस्टडी में भेजा जा सकता है। अत इस केस की जांच के लिए यह चार दिन  काफी अहम हैं। इसमें पुलिसवाले कई सवालों के जवाब तलाशेंगे। 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.