टाटा मोटर्स जमशेदपुर का इंजीनियर निकला देह व्यापार का मुख्य सरगना, रांची और टाटा में देह व्यापार के कई अड्डे खोल रखे थे, रितेश को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पटना के रामकृष्ण नगर थाना अंतर्गत खेमनीचक के सुभाष नगर में पुलिस ने बड़े सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है। यहां संचालित देह व्यापार के अड्डे से गिरफ्तार किया गया रितेश ही देह व्यापार के धंधे का मुख्य सरगना है। रितेश टाटा मोटर्स कंपनी जमशेदपुर में बतौर इंजीनियर पदस्थापित है। रितेश के साथ पकड़ी गई ममता उसकी मुख्य सहयोगी बताई जा रही है। इन दोनों ने मिलकर जमशेदपुर और टाटा में देह व्यापार के कई अड्डे खोल चुके हैं। 

पुलिस ने देह व्यापार अड्डे से छह युवतियों और महिलाओं को किया गिरफ्तार

पुलिस द्वारा देह व्यापार अड्डे से मुक्त कराई गई 6 लड़कियों में से एक नाबालिक है। नाबालिग लड़की बिहार के नवादा की रहने वाली है। दो महिलाएं नालंदा जिले के हिलसा थाना क्षेत्र, दो चंडी और एक पश्चिम बंगाल की रहने वाली है। देह व्यापार के धंधे का भंडाफोड़ होने के बाद पुलिस ने पटना के रामकृष्ण नगर थाने में दर्ज की गई प्राथमिकी में उसको भी धारा भी लगाई है। 

ममता को चाहिए थी ऐश मौज की जिंदगी, इसलिए वह पति को छोड़ सोहेल के साथ रहने लगी

पूछताछ में गिरफ्तार किए गए टाटा मोटर्स जमशेदपुर के इंजीनियर रितेश और ममता ने बताया कि वे 5 वर्षों से भी ज्यादा समय से देह व्यापार के धंधे का संचालन कर रहे हैं। गोमो हिलसा के रहने वाले हैं। ममता को ऐश मौज की जिंदगी चाहिए थी। इसलिए उसने पति को छोड़ दिया और भागलपुर निवासी सोहेल के साथ रहने लगी। वह अपनी मर्जी से इस धंधे में आई। बताया जा रहा है कि रितेश ममता का ग्राहक था। लेकिन दोनों में प्रगाढ़ता बढ़ गई और देह व्यापार का धंधा मिलकर करने लगे। रितेश और ममता बड़े-बड़े लोगों को लड़कियां सप्लाई करते थे। इस धंधे से दोनों ने मिलकर करोड़ों की संपत्ति बनाई। ‌ पुलिस ने दोनों के पास से दो लग्जरी गाड़ियां भी जब्त किया है। इन दोनों वाहनों के निधि चालक रखे गए थे। 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *