बिहार की मुखिया ने बेटे को पढ़ने के लिए भेजा दिल्ली, महज 11 दिन में ही आ गई दिल दहलाने वाली खबर

बिहार अंतर्गत भभुआ जिला निवासी महिला मुखिया ने अपने बेटे को नीट की तैयारी करने के लिए बड़े अरमानों से नई दिल्ली भेजा था। लेकिन दिल्ली आने के महज 11 दिन बाद ही उन्हें दिल दहलाने वाली खबर मिली। बेटे की मौत की खबर सुनकर महिला मुखिया वेसुध हो गई हैं। 

पिता ने लगाया हॉस्टल प्रबंधन पर हत्या का आरोप

यह सूचना मिलने के बाद 16 वर्षीय छात्र अनुभव त्रिपाठी के पिता मानधाता तिवारी आनन-फानन में दिल्ली स्थित अपने बेटे के हॉस्टल पहुंचे। उन्होंने हॉस्टल में लगे सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद हॉस्टल के वार्ड और हॉस्टल प्रशासन पर हत्या का आरोप लगाया। वहीं सूचना के बाद मौके पर पहुंची कोटला मुबारपुर थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एम्स के मोर्चरी में पोस्टमार्टम के लिए रखवा दिया है। पीडि़त परिवार के बयान पर सीआरपीसी 174 के तहत मामला दर्ज कर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। 

बिहार के भभुआ का रहने वाला था अनुभव

पुलिस अधिकारी ने बताया कि मृतक छात्र अनुभव त्रिपाठी मूलरूप से बिहार के भभुआ का रहने वाला था। उसकी मां अपने गांव की मुखिया है। वहीं उसके पिता मानधाता तिवारी गांव में खेतीबाड़ी करते हैं। परिवार में माता पिता, दो बड़ी बहने और एक छोटा बेटा है। पीड़ित पिता ने बताया कि उन्होंने 26 मई को अपने बेटे का एडमिशन साउथ एक्स स्थित आकाश इंस्टीट्यूट में कराया था। उसके रहने के लिए श्री विनायक हॉस्टल में व्यवस्था करवाई थी।

दिल्ली में नीट की तैयारी करने आया था अनुभव

वह 12वीं करने के बाद दिल्ली में नीट की तैयारी करने आया था। अनुभव के पिता ने बताया कि उनकी 28 मई को ट्रेन थी। अपने बेटे की सारी व्यवस्था करने के बाद वह खुशी-खुशी अपने गांव लौट गये। परिवार में भी सब लोग खुश थे। लेकिन पांच जून की दोपहर को हॉस्टल के वॉर्डन ने फोन कर बताया कि उनके बेटे ने खुदकुशी कर ली है। सूचना के बाद अनुभव के पिता अपने कुछ रिश्तेदारों को लेकर दिल्ली पहुंचे। सोमवार को अनुभव के शव को एम्स में पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया गया।

पिता ने लगाया साजिश का आरोप

अनुभव के पिता मानधाता तिवारी ने बताया कि बेटे की मौत की सूचना के बाद वह दिल्ली आये और हॉस्टल में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की तो देखा कि 4 जून की रात करीब 10:06 बजे हॉस्टल का वॉर्डन मृत छात्र के रूम में गया और 5 जून को सुबह 4 बजे निकला और फिर वापस कमरे में गया। उसके पास से एक टॉवल भी था।

पीड़ित पिता ने कहा-बेटे से अनैतिक व्यवहार हुआ है

पीडि़त पिता ने का कहना है कि वार्डन ने उनके बेटे के साथ जबरन अनैतिक व्यवहार किया है। इससे उनके बेटे की जान गई है। उन्होंने वार्डन और हॉस्टल प्रशासन पर साजिश के तहत अपने बेटे की हत्या करने का आरोप लगाया है। वहीं पुलिस का कहना है कि सीआरपीसी के 174 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। इसके बाद पुलिस मामले की जांच करेगी।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.