जिस जज ने लालू यादव को चारा घोटाले में सुनाई थी सजा, वह 59 साल की उम्र में खुद हो गये भाजपा नेत्री के दिलों में कैद, दोनों ने रचाई शादी

चारा घोटाले में राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू यादव को सजा सुनाने वाले जज शिवपाल सिंह 59 साल की उम्र में 50 वर्षीय भाजपा नेत्री नूतन तिवारी के दिलों में कैद हो गए हैं। दोनों ने शादी भी रचा ली है। मालूम हो कि शिवपाल सिंह की पहली पत्नी का निधन हो चुका है। शिवपाल सिंह ने अपने दोनों संतानों की सहमति से यह शादी की है। वहीं दूसरी ओर गोड्डा की 50 वर्षीय वकील और भाजपा नेत्री नूतन तिवारी के पहले पति भी इस दुनिया में नहीं हैं। दोनों ही परिवारों की रजामंदी से हुई इस शादी को समाज ने भी खुशी- खुशी स्वीकार कर लिया है।श‍िवपाल सिंह गोड्डा ज‍िले का जाना पहचाना नाम है। वह गोड्डा के प्रथम जज हैं। पिछले 3 वर्षों से वह इस पद पर कायम हैं। वह अपने कड़े रुख और वसूलों के लिए जाने जाते हैं। 

जज साहब और वकील साहिबा के परिवार वालों की रजामंदी से हुई यह शादी

जज श‍िवपाल सिंह और नूतन तिवारी रविवार को एक-दूजे के हो गए। जज साहब ने नूतन की मांग में स‍िंदूर भरकर उन्हें अपना जीवन साथी बना लिया। गोड्डा जिला कोर्ट में जज शिवपाल सिंह के साथ भाजपा नेत्री नूतन तिवारी बतौर वकील अपनी सेवा देती थीं। इसी क्रम में दोनों एक दूसरे के नजदीक आए और फिर शादी करने का फैसला कर लिया।

जज श‍ि‍वपाल स‍िंह‍ की पत्‍नी की मृत्‍यु दो दशक पूर्व हो गई थी। उन्हें एक बेटी और एक बेटा है। इस शादी को लेकर उन्होंने अपने बच्चों से सलाह मशवरा भी किया। इस पर उनके बच्चों ने पूर्ण रूप से सहमति जताई थी। दूसरी ओर भाजपा नेत्री और वकील नूतन तिवारी के पति की मृत्यु कुछ साल पहले हो चुकी है। नूतन को भी पहले पति से एक लड़का है। उनका पुत्र भी इस शादी के लिए सहमत था।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.