Today’s Rashifal & Panchang : आज  हनुमान जी की कृपा से इन राशि वालों को मिलेगा शुभ समाचार, 25 अक्टूबर 2022 का राशिफल और 2 दिनों का पढ़ें पंचांग

Rashifal of 25 October 2022 and 2 days panchang

भारतीय वैदिक ज्योतिष शास्त्र में 12 राशियों का  वर्णन किया गया है। सभी राशियों का स्वामी ग्रह है। राशियों पर ग्रहों और नक्षत्रों के प्रभाव के आधार पर जीवन में उतार-चढ़ाव का आकलन ज्योतिष शास्त्र में किया जाता है। आज  25 अक्टूबर को मंगलवार है। आज का दिन हनुमान जी को समर्पित होता है। इनकी पूजा से बुद्धि, बल और विवेक मिलता है।  सभी संकटों का निवारण होता है। आज राहु मेष राशि में हैं। मंगल मिथुन राशि में हैं। बुध कन्‍या राशि में हैं। सूर्य, चंद्रमा, शुक्र और केतु ग्रहण योग बनाकर तुला राशि में हैं। शनि मकर राशि में हैं। वक्री गुरु मीन राशि में गोचर में चल रहे हैं। अब पहले 2 दिनों का पंचांग, फिर राशिफल का डिटेल।

25 अक्टूबर 2022 यानी मंगलवार का पंचांग

कार्तिक कृष्ण पक्ष अमावस्या, राक्षस संवत्सर विक्रम संवत 2079, शक संवत 1944 (शुभकृत् संवत्सर), आश्विन | अमावस्या तिथि 04:18 PM तक उपरांत प्रतिपदा | नक्षत्र चित्रा 02:17 PM तक उपरांत स्वाति | विष्कुम्भ योग 12:31 PM तक, उसके बाद प्रीति योग | करण नाग 04:18 PM तक, बाद किस्तुघन 03:33 AM तक, बाद बव | अक्टूबर 25 मंगलवार को राहु 03:00 PM से 04:25 PM तक है | चन्द्रमा तुला राशि पर संचार करेगा |

26 अक्टूबर 2022 यानी बुधवार का पंचांग

कार्तिक शुक्ल पक्ष प्रतिपदा, राक्षस संवत्सर विक्रम संवत 2079, शक संवत 1944 (शुभकृत् संवत्सर), कार्तिक | प्रतिपदा तिथि 02:42 PM तक उपरांत द्वितीया | नक्षत्र स्वाति 01:24 PM तक उपरांत विशाखा | प्रीति योग 10:08 AM तक, उसके बाद आयुष्मान योग | करण बव 02:42 PM तक, बाद बालव 01:46 AM तक, बाद कौलव | अक्टूबर 26 बुधवार को राहु 12:10 PM से 01:35 PM तक है | 06:31 AM तक चन्द्रमा तुला उपरांत वृश्चिक राशि पर संचार करेगा |

25 अक्टूबर 2022 का राशिफल

मेष-अपने और जीवनसाथी के स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान दें। नए व्‍यवसाय की शुरुआत न करें। प्रेम में तू-तू, मैं-मैं हो सकती है। बच्‍चों की सेहत पर ध्‍यान दें। मध्‍यम समय है। बहुत बचकर पार करें। काली वस्‍तु का दान करें। सूर्यदेव को जल अर्पित करें।

वृष-शत्रुओं पर भारी पड़ेंगे। डिस्‍टर्ब रहेंगे थोड़ा सा लेकिन शत्रुओं पर विजय भी पा लेंगे। पैरों में चोट लग सकती है। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम रहेगा। प्रेम-संतान की स्थिति अच्‍छी है। व्‍यापार भी ठीक चलेगा। तांबे की वस्‍तु का दान करें।

मिथुन-बच्‍चों की सेहत पर ध्‍यान दें। महत्‍वपूर्ण निर्णय अभी रोक कर रखें। मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य प्रभावित दिख रहा है। प्रेम-संतान की स्थिति मध्‍यम है। व्‍यापार भी आपका मध्‍यम दिख रहा है। हरी वस्‍तु पास रखें।

कर्क-सीने में विकार की आशंका है। मां के स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान दें। भूमि, भवन, वाहन की खरीदारी में खलल पड़ सकता है। गृहकलह के संकेत हैं। स्‍वास्‍थ्‍य, प्रेम, व्‍यापार मध्‍यम दिख रहा है। काली वस्‍तु का दान करें। लाल वस्‍तु पास रखें।

सिंह-नाक-कान-गला की परेशानी हो सकती है। व्‍यापारिक नुकसान की आशंका है। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम, प्रेम-संतान मध्‍यम है। व्‍यापार भी मध्‍यम दिख रहा है। सूर्यदेव को जल देते रहें। काली वस्‍तु का दान करें।

कन्‍या-धनहानि के संकेत हैं। पूंजी निवेश न करें। मुख रोग के शिकार हो सकते हैं। नेत्रपीड़ा भी मिल सकती है। स्‍वास्‍थ्‍य, प्रेम, संतान, व्‍यापार के दृष्‍टिकोण से मध्‍यम समय है। सूर्यदेव को जल अर्पित करते रहें।

तुला-स्‍वास्‍थ्‍य प्रभावित दिख रहा है। जीवन में बहुत तरह की परेशानियां आ सकती हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम, प्रेम-संतान पहले से बेहतर है। व्‍यापार भी मध्‍यम दिख रहा है। शनिदेव की अराधना करें। सूर्यदेव को जल अर्पित करें।

वृश्चिक-नेत्रपीड़ा, सिरदर्द, कर्ज की स्थिति आ सकती है। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम रहेगा। प्रेम-संतान की स्थिति मध्‍यम, व्‍यापारिक दृष्‍टिकोण से भी मध्‍यम समय कहा जाएगा। काली वस्‍तु का दान करें।

धनु-स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम दिख रहा है। बच्‍चों की सेहत पर ध्‍यान दें। सरकारी तंत्र से कोई खराब समाचार की प्राप्ति हो सकती है। किसी पर आर्थिक दबाव न बनाएं अन्‍यथा नुकसान होगा। स्‍वास्‍थ्‍य, प्रेम, व्‍यापार मध्‍यम दिख रहा है। सूर्यदेव को जल अर्पित करें। काली वस्‍तु का दान करें।

मकर-नए व्‍यापार की शुरुआत अभी न करें। स्‍वास्‍थ्‍य पहले से बेहतर हो चुका है। कोर्ट-कचहरी में हार का सामना करना पड़ सकता है। प्रेम-संतान भी मध्‍यम दिख रहा है। मां काली की अराधना करते रहें।

कुंभ-यात्रा में कष्‍ट दिख रहा है। अपमानित होने का भय दिख रहा है। स्‍वास्‍थ्‍य, प्रेम, संतान मध्‍यम, व्‍यापार भी मध्‍यम दिख रहा है। गणेश जी की अराधना करते रहें। सूर्यदेव को जल अर्पित करें।

मीन-चोट लग सकती है। किसी परेशानी में पड़ सकते हैं। परिस्थितियां प्रतिकूल रहेंगी। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम, प्रेम, संतान मध्‍यम, व्‍यापार भी मध्‍यम है। भगवान भोलेनाथ की अराधना करें। उनका जलाभिषेक करें। काली वस्‍तु का दान करें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.