|

आपके लिए यूज़फुल खबर : यदि नहीं यूज कर रहे बैंक अकाउंट तो फौरन कर दें बंद, नहीं तो हो सकता है यह नुकसान

Useful news for you. जीवन की सभी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए बैंक सेवा से जुड़ा रहना आज के समय में जरूरी है। अब तो मैक्सिमम काम डिजिटली होने लगे हैं, इसलिए सुविधाएं बढ़ी हैं, लेकिन इसके साथ सावधानी भी बरतनी है। अमूमन ऐसा होता है कि एक ही व्यक्ति के नाम एक से अधिक बैंक का अकाउंट होते हैं। एक अधिक सक्रिय होता है और दूसरे का यूज नहीं किया जाता है तो यह भविष्य के लिए नुकसानदेह हो सकता है। यह जरूरी है कि अगर आप किसी बैंक के अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो फौरन बंद करा देना चाहिए। जानिए इसके कारण।

मिनिमम बैलेंस करना होगा मेंटेन

बैंक खातों में एक मंथली एवरेज बैलेंस रखना होता है, 500 रुपए से लेकर 15 हजार रुपये तक होता है। मंथली एवरेज बैलेंस ना रखने पर बैंक अपनी पॉलिसी के हिसाब से आपके खाते से पैसे काट सकता है। जीरो बैलेंस वाला आपका सैलरी अकाउंट भी लगातार 3 महीनों तक सैलरी ना आने पर सेविंग अकाउंट में तब्दील हो जाता है। जिसमें आपको आम सेविंग अकाउंट की तरह ही मंथली एवरेज बैलेंस रखना जरूरी होता है।

इसके के लिए चुकानी होती है फीस

बैंक अपने डेबिट कार्ड पर कुछ फीस लेते हैं। ये फीस सालाना 100 रुपए से 1000 रुपये तक होती है। अगर आप अपने अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तब भी आपको डेबिट कार्ड की फीस भरनी पडे़गी। वहीं बैंक आपके फोन पर SMS भेजने का चार्ज भी वसूलते हैं जो 30 रुपए प्रति तिमाही हो सकता है।

 डिएक्टिवेट हो सकता है अकाउंट

अगर आप लगातार 12 महीने तक अपने बैंक अकाउंट में कोई ट्रांजेक्शन नहीं करते हैं तो बैंक आपके खाते को इनएक्टिव अकाउंट मान लेगा। इनएक्टिव अकाउंट में ट्रांजेक्शन करने के लिए बैंक मना नहीं करते लेकिन किसी डॉर्मेंट अकाउंट से आप नेट बैकिंग, एटीएम ट्रांजेक्शन या मोबाइल बैंकिग नहीं कर सकते।

टैक्स जमा करते समय हो सकती है परेशानी

ज्यादा बैंकों में अकाउंट होने से टैक्स जमा करते समय काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इनकम टैक्स रिटर्न भरते समय आपको अपने सभी बैंक अकाउंट्स की जानाकारी देनी होती है। ऐसे में अक्‍सर उनके स्टेटमेंट का रिकॉर्ड जुटाना काफी पेचीदा काम हो जाता है।

इन्वेस्टमेंट पर पड़ सकता है असर

इस समय कई प्राइवेट सेक्टर बैंक 10 हजार से लेकर 20 हजार रुपये तक मिनिमम बैलेंस रखने को कहते हैं। अगर आपके पास ऐसे चार सेविंग अकाउंट हैं, तो आपके 40 हजार से लेकर 80 हजार रुपये मिनिमम बैलेंस बनाए रखने में ही ब्लॉक हो जाएंगे और कहीं ना कहीं यह आपके इन्वेस्टमेंट को भी प्रभावित करेगा।

धोखाधड़ी का बना रहता है खतरा

कई बैंकों में अकाउंट होना सुरक्षा के लिहाज से भी सही नहीं होता है। आज देश में बड़ी संख्या में लोग नेट बैंकिंग का भी इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में सभी का पासवर्ड याद रखना बहुत ही मुश्किल काम होता है। निष्क्रिय अकाउंट का इस्‍तेमाल नहीं करने से इसके साथ फ्रॉड या धोखाधड़ी होने का चांस बहुत अधिक होता है, क्‍योंकि आप लंबे समय तक इसका पासवर्ड नहीं बदलते हैं। इससे बचने के लिए अकांउट या नेट बैंकिंग को बंद करा देना चाहिए।

टिप्पणी : लगातार यूज़फुल खबरों से रूबरू रहना चाहते हैं तो समाचार सम्राट डॉट कॉम से जुड़े रहें। अगर चाहें तो 93344 51953 पर संपर्क कर अथवा इसी नंबर पर व्हाट्सएप कर अपनी समस्या बता सकते हैं। हम इसमें मदद करने की कोशिश करेंगे। 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.