पश्चिम बंगाल माध्यमिक बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट घोषित, 86 प्रतिशत से अधिक विद्यार्थी रहे सफल, बांकुड़ा के अर्णव और बर्दवान के रौनक संयुक्त रूप से टॉपर बने

पश्चिम बंगाल माध्यमिक बोर्ड परीक्षा के परिणाम शुक्रवार घोषित कर दिए गए हैं। इस साल इस परीक्षा में 86.60 प्रतिशत विद्यार्थी सफल घोषित किए गए हैं। टॉप टेन में 114 विद्यार्थी शामिल हैं। बांकुड़ा के रहने वाले छात्र अर्णव घोड़ाई और पूर्व बर्दवान के रौनक मंडल ने 693 अंकों के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष स्थान प्राप्त किया है। अर्णव बांकुड़ा के राम हरिपुर रामकृष्ण मिशन हाई स्कूल का छात्र है जबकि रौनक मंडल बर्दवान के सीएमएस स्कूल का छात्र हैं। 

मालदा की कौशिकी दूसरे स्थान पर

दूसरी तरफ पश्चिम मेदिनीपुर के रौनक मंडल और मालदा की कौशिकी सरकार दूसरे नंबर पर हैं। इन्हें 692 नंबर मिले हैं। वहीं पश्चिम बर्दवान की अनन्या दासगुप्ता और पूर्व मेदिनीपुर की देवशिखा प्रधान 691 नंबर हासिल कर तीसरे नंबर पर हैं।

माध्यमिक शिक्षा परिषद के अध्यक्ष कल्याणमय गांगुली ने रिजल्ट की घोषणा करते हुए बताया कि पास दर के मामले में पूर्व मेदिनीपुर जिला सबसे आगे है। यहां 97.63 फ़ीसदी छात्र छात्राओं ने परीक्षा पास की है। दूसरे स्थान पर कलिंगपोंग है जहां 94.77 फ़ीसदी छात्र-छात्राओं ने सफलता हासिल की है जबकि पश्चिम मेदिनीपुर तीसरे नंबर पर हैं। यहां 94.62 फ़ीसदी छात्र छात्राओं ने सफलता हासिल की है। कोलकाता चौथे नंबर पर है जहां 94.36 फ़ीसदी छात्र-छात्रा पास हुए हैं। झाड़ग्राम में 92.07 फ़ीसदी, उत्तर 24 परगना में 91.98 और दक्षिण 24 परगना में 89.61 फ़ीसदी छात्र छात्राओं को सफलता मिली है। मालदा में पास परसेंटेज 8 7.11 फीसदी है।

10.98 लाख विद्यार्थी परीक्षा में सफल हुए

कल्याणमय गांगुली ने बताया है कि कोरोना की वजह से दो सालों तक माध्यमिक परीक्षा नहीं हुई। इस साल सात मार्च से माध्यमिक परीक्षा शुरू हुई थी और 16 मार्च को खत्म हुई थी। कुल 11 लाख 26 हजार 863 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा दी थी। इनमें से छात्रों की संख्या पांच लाख 59 हजार और छात्राओं की संख्या छह लाख 26 हजार 804 थी। 79 दिनों के बाद माध्यमिक परीक्षा का परिणाम घोषित किया गया है। इस बार कुल 86.06 फ़ीसदी छात्र-छात्राओं ने परीक्षा पास की है। कुल 10.98 लाख विद्यार्थी परीक्षा में सफल हुए हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.