बढ़ती आपराधिक घटनाओं से बैरकपुर शिल्पांचल का इलाका फिर अशांति की ओर अग्रसर, अर्जुन सिंह ने जुआ को बताया अपराध का मुख्य कारण

Kolkata Barrackpore latest news : अपराधिक घटनाओं से एक बार फिर बैरकपुर शिल्पांचल का इलाका दहशत में है। यहां खुलेआम गोलीबारी, बमबारी और रंगदारी की घटनाएं हो रही हैं, लेकिन पुलिस और प्रशासन मौन साधे हुए है। लगता है कि यहां के अपराधियों को किसी का भी डर नहीं है। इन घटनाओं से आम लोग परेशान हो चुके हैं। इस इलाके में अब कानून व्यवस्था का सवाल खड़ा हो गया है। इस इलाके में वर्ष 2019 के बाद हालात बेकाबू हो गये थे। लगता है फिर वैसे ही स्थिति इस इलाके की हो गई है। अगर समय रहते पुलिस प्रशासन ने इस ओर ध्यान नहीं दिया तो यहां के हालात और बिगड़ सकते हैं। 

6 माह में 2 सीपी बदले गए हैं लेकिन नहीं रुका अपराध

बताते चलें कि विगत लोकसभा चुनाव के दौरान शिल्पांचल का भाटपाड़ा, कांकीनाड़ा, जगदल, हालीशहर आपराधिक घटनाओं के लिए सुर्खियों में रहा था। इन इलाकों में 4 अतिरिक्त थाने की स्थापना के बाद भी हालात में ज्यादा सुधार नहीं आया है। पिछले 6 माह में यहां दो सीपी बदल दिए गए, लेकिन स्थिति में सुधार नहीं हो पा रहा है। स्वयं पुलिस ने दावा किया है कि इस इलाके में अब तक लगभग 200 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। बम और हथियार भी बड़ी संख्या में यहां पकड़े गए हैं। इसके बाद भी अपराधी बेलगाम हैं। 

जुलाई में दिनदहाड़े कर दी गई थी दो लोगों की हत्या

इस इलाके में पिछले जुलाई में अपराधियों ने सरेआम दो हत्या कर दी थीं। इससे जगदल और भाटपाड़ा का इलाका अशांत हो गया था। बता दें कि 2 जुलाई को भाटपाड़ा पालिका के 12 नंबर वार्ड में मोहम्मद सलाउद्दीन की सरेआम गोली मारी गई थी। इससे सलाउद्दीन की मौत हो गई थी। इस हत्याकांड के महज 13 दिनों बाद ही बड़ी मस्जिद के समक्ष अपराधी टिंकू की भी हत्या कर दी गई। 

हत्या के नियत से चलाई गोली लेकिन बाल -बाल बचे

जुलाई के बाद अगस्त और सितंबर में यहां कुछ शांति देखने को मिली, लेकिन 18 अक्टूबर और 23 अक्टूबर को यहां हत्या के नियत से गोली मारी गई।भाटपाड़ा के कांटाडांगा में 18 अक्टूबर को गौरव प्रसाद को अपराधियों ने गोली मार दी। इसके बाद 23 अक्टूबर को काली पूजा से ठीक एक दिन पहले तीनसूतिया में राज पांडेय को गोली मारी गयी। लेकिन दोनों बाल – बाल बच गए।  

 बढ़ते अपराध के लिए पुलिस को दोषी ठहराया

प्रेमचंदनगर में बम विस्फोट किए जाने की घटना के बाद भाजपा विधायक पवन सिंह ने आरोप लगाया कि पुलिस को अपराधियों पर नकेल कसने ही होगी। ऐसा किए बिना क्षेत्र में शांति संभव नहीं है। उन्होंने इलाके में बढ़ते अपराध के लिए पुलिस और प्रशासन को आड़े हाथों लिया। 

सांसद अर्जुन सिंह ने कहा- जुआ अड्डा बंद किए बिना अपराध पर नियंत्रण नहीं हो सकता 

मंगलवार को रेलवे ट्रैक पर रखे गये बमों के विस्फोट से एक किशोर की मृत्यु के बाद सांसद अर्जुन सिंह ने कहा कि जुआ यहां आपराधिक गति​विधियों का मुख्य कारण बन चुका है। पुलिस प्रशासन जब तक जुआ पर प्रतिबंध नहीं लगाता, तब तक इस इलाके में अपराध नहीं रुकेगा। इलाके में शांति के लिए जरूरी है कि प्रशासन जल्द से जल्द यहां के सभी जुआ अंडों को बंद करवाएं।  

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.