लालू यादव के बड़े बेटे सह मंत्री तेज प्रताप के तलाक पर आज आ सकता है पटना हाई कोर्ट का फैसला, ऐश्वर्या राय नहीं चाहती तलाक

Minister Tej Pratap and Aishwarya Rai diverse case :  बिहार सरकार के पर्यावरण एवं वन मंत्री और लालू प्रसाद यादव के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव के तलाक मामले में गुरुवार को पटना हाईकोर्ट अपना फैसला सुना सकता है। मिली जानकारी के अनुसार तेज प्रताप हर हाल में पत्नी ऐश्वर्या राय से अलग होना चाहते हैं। वही उनकी पत्नी ऐश्वर्या राय अब तलाक नहीं लेना चाहती हैं। मालूम हो कि इस केस की सुनवाई न्यायाधीश आशुतोष कुमार की बेंच में फरवरी 2022 से चल रही है। 

शादी के 6 माह के भीतर हुआ था तलाक का मुकदमा

गौरतलब है कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव और बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री दारोगा प्रसाद राय  की पौत्री और तत्कालीन राष्ट्रीय जनता दल के नेता चंद्रिका राय की पुत्री ऐश्‍वर्या राय की शादी 12 मई 2018 को बड़े ही धूमधाम से बिहार की राजधानी पटना में हुई थी। लेकिन शादी के बाद से ही तेज प्रताप और ऐश्वर्या राय के बीच विवाद शुरू हो गया। विवाह के महज छह माह होते-होते तेज प्रताप ने परिवार न्‍यायालय में तलाक का मुकदमा दायर कर दिया था। तेज प्रताप और ऐश्वर्या राय के बीच चल रहा है यह पारिवारिक विवाद अब पटना हाईकोर्ट में चल रहा है। इस मामले की सुनवाई बुधवार यानी 21 सितंबर को होनी थी। लेकिन कुछ अपरिहार्य कारणों से सुनवाई नहीं हो सकी। वैसे संभावना जताई जा रही है कि पटना हाई कोर्ट 22 सितंबर को इस मामले की सुनवाई करेगा। 

आज तक नाकाम रहीं सुलह की तमाम कोशिशें

पटना हाईकोर्ट की पहल पर दोनों पक्षों में सुलह की कोशिश अब तक नाकाम रही है। पिछले 29 जून को जस्टिस आशुतोष कुमार ने यह मामला सुलझाने के लिए ऐश्वर्या राय और तेज प्रताप की काउंसलिंग भी की थी। लेकिन तेज प्रताप तलाक के अपने फैसले पर अड़े रहे। बीते पांच अगस्‍त को पटना के संजय गांधी उद्यान की अतिथिशाला में मामला सुलझाने के लिए दोनों परिवार के अभिभावकों की बैठक भी हुई थी, लेकिन उसका कोई नतीजा नहीं निकल सका। बैठक के दौरान राबड़ी देवी ने तेज प्रताप की तलाक की जिद का हवाला देते हुए ऐश्वर्या राय से मेल मिलाप की सभी संभावनाओं को सिरे से खारिज कर दिया था। 

अब पटना हाई कोर्ट के फैसले का इंतजार

बिहार के इस हाई प्रोफाइल तलाक के मुकदमे में अब अदालत के फैसले का इंतजार हो रहा है। हाईकोर्ट के इस फैसले पर बिहार के लोगों की पैनी नजर है। सभी यह जानना चाहते हैं कि कोर्ट इस मामले में 22 सितंबर को क्या फैसला सुनाता है। गुरुवार को इस मामले में जस्टिस आशुतोष कुमार की बेंच दोनों पक्षों के वकीलों की दलील सुनेगी।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.