|

EMPLOYMENT : बोकारो स्टील प्लांट में 10 हजार स्थायी कर्मचारियों की होगी बहाली, 8 हजार ठेका कर्मियों को भी…

 Jobs opportunity : सेल (SAIL) ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में रिकॉर्ड मुनाफा अर्जित किया है। इस मुनाफे में बोकारो स्टील प्लांट (Bokaro Steel Plant) का सबसे बड़ा योगदान है। वर्ष 2030-31 तक सेल ने पहले चरण में 35 और दूसरे चरण में 50 मिलियन टन उत्पादन क्षमता का लक्ष्य निर्धारित किया है। सेल की वर्तमान में उत्पादन क्षमता 20 मिलियन टन है। बोकारो स्टील प्लांट (बीएसएल) ने 2030-31 तक पहले चरण में 10 और दूसरे चरण में 15 मिलियन टन उत्पादन क्षमता का लक्ष्य निर्धारित किया है। बीएसएल के पहले चरण में 10 मिलियन टन का प्लांट बनाने के लिए 25000 करोड़ रुपये का निवेश होगा।  इसमें लगभग 10,000 स्थायी कर्मियों की बहाली होगी। करीब 8000 ठेका कर्मियों को भी काम के अवसर मिलेंगे। वित्तीय वर्ष 2023-24 में विस्तार का काम धरातल पर दिखने लगेगा। यह जानकारी बीएसएल के प्रभारी निदेशक अमरेंद्र प्रकाश ने पत्रकारों से दी है।

अच्छी क्वालिटी के साथ उचित मूल्य पर सामान की करें आपूर्ति

प्रकाश ने कहा कि बियाडा के उद्यमी अच्छी क्वालिटी के साथ उचित मूल्य पर समय पर सामान की आपूर्ति करें, तो बीएसएल को उनसे सामान लेने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी। उद्यमी आगे आएं, बीएसएल उनसे सामान लेने को तैयार है। इसके लिए बीएसएल की ओर से जो भी सुविधा और मदद उनको चाहिए, वह उपलब्ध कराई जाएगी।

 सिर्फ दो स्कूलों का ही होगा संचालन

 प्रकाश ने कहा कि बीएसएल की ओर से अभी नौ स्कूलों का संचालन किया जा रहा है, जिसमें लगभग 4500 बच्चे पढ़ रहे हैं। इनके लिए दो स्कूल ही काफी हैं। शिक्षकों की भी कमी है। बीएसएल के स्कूलों में कर्मियों के मात्र दो फीसदी बच्चे ही पढ़ते हैं। बाकी 98 फीसदी बच्चे प्राइवेट स्कूलों में अध्ययनरत हैं। आने वाले समय में बीएसएल नौ में से सात स्कूल को बंद करेगा, सिर्फ दो ही स्कूलों का ही संचालन प्रबंधन की ओर से किया जाएगा।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.