निलंबित IAS पूजा सिंघल को लेकर पूर्व CM रघुवर दास ने पहली बार खोली जुबान, जानिए क्या-क्या कहा…

Jharkhand (झारखंड) में मनरेगा घोटाले और मनी लॉड्रिंग केस में गिरफ्तार झारखंड की पूर्व खनन सचिव निलंबित IAS अधिकारी पूजा सिंघल को लेकर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 2 जून को पहली बार जुबान खोली और सफाई दी। कहा कि पूजा सिंघल को उन्होंने कभी नहीं बचाया। बचाता तो जेल नहीं जाती। पूजा सिंघल के खिलाफ जांच को कभी नहीं रोका। जब साक्ष्य मिला तो जांच एजेंसियों ने कार्रवाई की और राम विनोद सिन्हा, पूजा सिंघल जैसों को जेल जाना पड़ा।   जांच प्रभावित नहीं होने दिया गया, तभी राम विनोद सिन्हा व पूजा सिंघल जैसे पकड़ में आए।

हेमंत पर बोला हमला

रघुवर दास ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर हमला बोला। कहा कि अबुआ राज के बबुआ मुख्यमंत्री आकंठ भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। एक खुलासा किया और मुख्यमंत्री बेचैन हो गए। आरोप लगाया कि मुख्य सचिव और डीजीपी को बुलाकर मुख्यमंत्री ने रघुवर दास की गिरफ्तारी के लिए दवाब बनाया। अधिकारियों ने साफ इनकार कर दिया। कहा कि कोई ऐसा आरोप या साक्ष्य नहीं है,  जिससे रघुवर दास को गिरफ्तार किया जा सके। 

खनिजों की लूट की करो जांच 

रघुवर ने कहा,जांच  करनी है तो खनिजों की लूट की करें। खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे की तर्ज पर आदेश जारी किया जा रहा है। इशारों में कहा कि पहले मुख्यमंत्री और सरयू राय की संपत्ति की जांच करा लें। इनकी संपत्ति कितनी बढ़ी है, इसका तो पता चले।

 भाजपा ने झारखंड को जन्म दिया

रघुवर दास ने कहा कि भ्रष्टाचार का मामला उठाने के पीछे राज्य सरकार को अस्थिर करना या मुख्यमंत्री को हटाना उदे्श्य नहीं है। अटल बिहारी वाजपेयी यानी भाजपा ने झारखंड को जन्म दिया। इसलिए जन्म देने वाले को दर्द होना स्वाभाविक है। मौके पर सांसद पशुपतिनाथ सिंह, विधायक राज सिन्हा,ढुलू महतो, अपर्णासेन गुप्ता, पूर्व मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल,जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह आदि मौजूद थे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.