…और चलते-चलते अचानक 400 फीट गहरी खाई में जा गिरी बस, 26 तीर्थ यात्रियों की गई जान, सभी मध्य प्रदेश के

Uttarakhand (उत्तराखंड) के उत्तराकाशी में 5 जून की शाम तीर्थयात्रियों से भरी एक बस चलते चलते नियंत्रण खोकर अचानक 400 फीट गहरी खाई में जा गिरी। इसमें मध्यप्रदेश के पन्ना जिले के 28 तीर्थयात्री और ड्राइवर-क्लीनर समेत 30 लोग सवार थे। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि हादसे में 26 लोगों की मौत हुई है। सभी यात्री चारधाम यात्रा पर जा रहे थे। NDRF टीम रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है। उत्तराखंड सीएम आपदा नियंत्रण कक्ष से रेस्क्यू ऑपरेशन पर नजर रख रहे हैं। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार देर रात देहरादून पहुंचे।

हरिद्वार से चली थी बस

बस का नंबर UK-04 1541 है। यह हरिद्वार से चली थी। थानाध्यक्ष पुरोला अशोक कुमार ने बताया- गहरी खाई और अंधेरे की वजह से शवों को सड़क तक पहुंचाने में दिक्कत हुई। उत्तराखंड के हादसे के बाद एम्बुलेंस के साथ मेडिकल की टीम भी मौके पर मौजूद है। घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज किया जा रहा है।

आपदा कंट्रोल रूम के प्रभारी सर्वेश चंद्र व्यास ने बताया कि बस हादसे में अब तक 24 शव बरामद किए जा चुके है, 2 लोग मिसिंग है। उदय, अखिराज, राजकुमार और ड्राइवर हीरा सिंह घायल है। जिन्हें देहरादून रेफर किया गया है।

यात्रियों के नाम

बस में ड्राइवर और क्लीनर के अलावा 14 पुरुष और 14 महिलाएं सवार थे।

राजकुमार (38) राजकुंवर (58, महिला), मेनका प्रसाद (56), सरोज (54, महिला), बद्रीप्रसाद (63), करन सिंह (62), उदय सिंह (63), हक्की राजा (60), चंद्रकली (61, महिला), मोतीलाल (62), बलदेव (77, महिला), कुसुम बाई (77, महिला), अनिल कुमारी (50, महिला), कारसन बिहारी (69), प्रभा (63, महिला), शकुंतला (60, महिला), पार्वती (62, महिला), शीला बाई (61, महिला), विश्वकांत (39), चंद्रकला (57, महिला), कंछेदीलाल (62), राजाभाई (59), धनीराम (72), कामबाई (57, महिला), वृंदावन (61), कमला (59, महिला), रामसखी (63), गीताबाई (55, महिला)।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.