यह जुर्म है : दबंगों ने इस गांव में बारातियों को लाठी, डंडा और रॉड से पीटा, लौट गई लग रही बारात, इसके बाद जो हुआ…

Bihar (बिहार) में गया के खिजरसराय थाना क्षेत्र का सरैया गांव। यहां दबंगों ने बारातियों को लाठी, डंडा और रोड से बेतरह पीटा। हालात ऐसे उत्पन्न हो गए जिसकी वजह से लग रही बारात लौट गई। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मारपीट की घटना में दूल्हे के भाई समेत आधा दर्जन बाराती जख्मी हो गए। घर के सामने डीजे बजाने को लेकर हुए विवाद के बाद इतनी गंभीर घटना घट गई। घटना को लेकर लकड़ी के पिता ने 9 जून की शाम को खिजरसराय थाने में आठ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। 

मामले की जांच कर रही पुलिस

पुलिस का कहना है कि शिकायत आई है। पुलिस टीम मामले की जांच में गांव में गई है। घायलों के फर्द बयान आते ही आरोपियों के विरुद्ध केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। इस मामले में किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। लड़की के पिता का कहना है कि उसने अपनी बेटी का रिश्ता परैया थाना क्षेत्र के गनौरी डीह के रहने वाले गुड्‌डु कुमार से की थी। आठ जून को शादी तय थी। लिहाजा परैया से बारात में घर आई थी। इस समय तक सब कुछ ठीक चल रहा था। बारात जलमासा में ठहरा हुआ था। शाम के वक्त बारात सज धज कर मेरे दरवाजे के लिए निकली।

बारातियों में घुस गए शरारती युवक

बाराती डीजे बजाते हुए आ रहे थे। इसी दौरान रास्ते में गांव के कुछ शरारती युवक डीजे की धुन पर जबरन घुसकर नाचने लगे। इस बात को लेकर बारातियों और गांव के युवकों के बीच तू-तू मैं मैं शुरू हो गई। बात बिगड़ने लगी तो सराती पक्ष के लोग मौके पर पहुंच कर युवकों को समझा-बुझा कर शांत करा दिया। लेकिन कुछ ही देर बाद रामदेव यादव,पूजन यादव, मुनीव जी, मुनारिक यादव, गणेश यादव, नंद लाल यादवख् सुरेंद्र यादव,चंदन यादव के अलावा कई लोगों ने बारातियों को घेर कर उनके ऊपर लाठी, डंडे व रॉड से जान लेवा हमला बोल दिया।

ये हैं बुरी तरह जख्मी

इस मार पिटाई में राकेश, पंकज, मंटू, अशोक और धर्मदेव बुरी तरह से जख्मी हो गए। दुल्हे के भाई समेत बाराती हॉस्पिटल पहुंच गए। वहां से सभी लोग गांव लौट गए। गांव के दबंगों की वजह से हमारी बेटी की बारात गांव से लौट गई। घायलों का इलाज निजी हॉस्पिटल में चल रहा है। लड़की पक्ष का कहना है कि पुलिस इस मामले को गंभीरता से ले और आरोपियों की गिरफ्तार करे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.