बिहार की घटना : महा दलित के पानी मांगने पर पिला दिया था पेशाब, पुलिस ने 8 लोगों को लिया हिरासत में 

BIHAR NEWS : बिहार के मधुबनी जिले में एक समुदाय विशेष के लोगों ने चोरी के आरोप में दलित की पिटाई कर दी थी। पिटाई से घायल दलित ने जब पानी मांगा तो दबंगों ने उसे अपना पेशाब पिला दिया था। इस मामले में अब पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आठ लोगों को हिरासत में ले लिया है। इन सभी लोगों से फिलहाल पुलिस पूछताछ में जुटी हुई है। बता दें कि यह घटना मधुबनी जिला अंतर्गत रहिका थाना क्षेत्र के इजरा गांव में महादलित के साथ गत 16 अगस्त को हुई थी। 

पिटाई से रीढ़, कमर और कंधे की टूट गई थी हड्डी

गौरतलब है कि गत 16 अगस्त को राम प्रकाश पासवान नामक एक व्यक्ति अपनी बहन के घर आया था। इसी दौरान किसी बात को लेकर गांव के एक विशेष समुदाय के लोगों से उसकी कहासुनी हो गई। इसके बाद गांव के विशेष समुदाय के लोगों ने उस व्यक्ति का हाथ पैर बांधकर उसकी पिटाई करने लगे। इस क्रम में राम प्रकाश पासवान की रीढ़ की हड्डी टूट गई थी। पिटाई से कमर और कंधे की पसली भी टूट गई थी। दबंगों की पिटाई से जब राम प्रकाश जब बदहवास हो गया तो उसने पानी की मांग की। लेकिन दबंगों ने पानी की बजाए उसे अपना पेशाब पिला दिया था।

पीड़ित के परिजनों से 50 हजार रुपए जुर्माना भी लिया

जब दबंगों का पीड़ित को पीटने और हड्डी तोड़ने से भी मन नहीं भरा तो उसे छोड़ने के बदले पीड़ित के परिजनों से पचास हजार रुपए का जुर्माना भी वसूला। दबंगों की पिटाई से बुरी तरह से घायल हो चुके राम प्रकाश पासवान को इलाज के लिए दरभंगा के निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। ‌ घटना को हुए 13 दिन हो गए हैं लेकिन अभी भी वह अस्पताल में ही है। अभी भी उसकी स्थिति बहुत अच्छी नहीं है।

घटना के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद दर्ज की गई थी मामले में प्राथमिकी

इधर, पीड़ित के बेटे का आरोप है कि उसके पिता को छोड़ने के एवज में उन लोगों ने 20 लाख रुपये मांगे‌ थे। लेकिन जान बचाने के लिए दबंगों को तत्काल 50 हजार रुपए दिए गए थे। इसके बाद दबंगों ने उन्हें मुक्त किया था। बता दें कि पिछले दिनों एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें उस व्यक्ति को पीटते हुए कुछ लोग दिख रहे थे। इसके बाद यह मामला तूल पकड़ा था। इसके बाद रहिका थाना में पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की थी।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.