मामला 8 करोड़ की जब्ती का : कोलकाता के पांडेय बंधुओं का लिंक गुजरात के कारोबारियों से जुड़ा, 134 करोड़ के लेनदेन का खुलासा

 Kolkata West Bengal news : पश्चिम बंगाल अंतर्गत कोलकाता के श‌िवपुर में शैलेश पांडेय (Shailesh Pandey) के फ्लैट से 8 करोड़ रुपये की बरामदगी मामले में पुलिस (police)  को अहम तथ्य हाथ लगे हैं। मिली जानकारी के अनुसार शैलेश पांडेय (Pandey brothers) का संबंध (relation) गुजरात के कारोबारियों से है। आईएक्स ग्लोबल ऐप के जरिए की गयी धोखाधड़ी का लिंक गुजरात के कुछ व्यवसायियों से जुड़ा हुआ है। पुलिस उन व्यवसासियों तक पहुंचने के लिए लगातार सबूत जुटा रही है। 

और 17 बैंक अकाउंट का पता चला

कोलकाता पुलिस (Kolkata Police) को शैलेश पांडेय के और 17 बैंक अकाउंट के बारे में पता चला है। इन बैंक अकाउंट में भी आईएक्स ग्लोबल ऐप (i x global app) की ठगी के रुपये का लेनदेन किया गया था। पुलिस के अनुसार इन 17 नए बैंक अकाउंट (bank account) को 6 महीने पहले खोलकर लेनदेन किया गया था। इनमें से 6 बैंक अकाउंट के डिटेल्स (account details) को खंगालने पर पता चला कि करीब 57 करोड़ का लेनदेन किया गया है। ऐसे में पुलिस को अब तक 134 करोड़ रुपये के लेनदेन का पता चला है। पुलिस के अनुसार अभी और 11 बैंक अकाउंट को खंगालना है। 

200 करोड़ के पार जा सकता है आंकड़ा

ऐसे में पुलिस का अनुमान है कि शैलेश पांडेय द्वारा इन बैंक से हुए लेनदेन का आंकड़ा 200 करोड़ के पार जा सकता है। पुलिस ने प्राथमिक जांच में पाया कि यह सभी बैंक अकाउंट कोलकाता के विभिन्न इलाकों में रहनेवाले लोगों के नाम पर खोला गया था। सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि उक्त सभी बैंक अकाउंट केनरा बैंक के नरेन्द्रपुर ब्रांच में खोला गया था। इससे पहले पुलिस को शैलेश के 5 अकाउंट के बारे में पता चला था। ‌इसके जरिए 77 करोड़ का लेनदेन किया गया। इसके अलावा कोलकाता पुलिस के एंटी बैंक फ्रॉड सेक्शन के अधिकारियों ने मंगलवार को स्ट्रैंड रोड स्थित शैलेश के ऑफिस में छापामारी की। छापामारी के दौरान कई दस्तावेज बरामद किए गए।

सीए इंस्ट‌िट्यूट से शैलेश के बारे में मांगी जानकारी

पुलिस के अनुसार (according to police) शैलेश पांडेय चार्टर्ड अकाउंटेंट सही में है या नहीं, इसके बारे में पता लगाने के लिए कोलकाता पुलिस (Kolkata Police) की तरफ से सीए इंस्ट‌िट्यूट (CA institute) को पत्र ल‌िखकर जानकारी मांगी गयी है। पुलिस सूत्रों के अनुसार उन्हें पता चला है कि शैलेश अकाउंट मुहैया कराने के साथ ही रुपये के हेरफेर का काम करता था लेकिन उसके सीए होने पर उन्हें संदेह है। इसके अलावा सीए इंस्ट‌िट्यूट की वेबसाइट (website) पर भी पुलिस को शैलेश के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है।

आईएक्स ग्लोबल ऐप बैन करने के लिए लिखा पत्र

कोलकाता पुलिस (Kolkata Police) की ओर से आईएक्स ग्लोबल ऐप (IX global app) को गूगल प्ले स्टोर से हटाने के लिए गूगल को पत्र भेजा गया है। इसके अलावा इस कंपनी की वेबसाइट को बंद करने के लिए सर्टिन को भी पत्र भेजा गया। पुलिस के अनुसार आईएक्स ग्लोबल ऐप (IX global app) को अमरीका में बनाया गया था। सूत्रों के अनुसार भले ही ऐप को अमरीका में तैयार किया गया हो लेकिन ‌इसे नाइजीरिया से ऑपरेट किया जा रहा है। फिलहाल पुलिस इस बारे में पता लगाने के लिए कोशिश कर रही है।

नेपाल के कॉल सेंटर से आता था लोगों को फोन

मिली जानकारी के अनुसार भारत में ठगी के शिकार लोगों के पास नेपाल के नंबर से फोन आता था। जांच के दौरान जब आईएक्स ग्लोबल के अकाउंट (account)  में रुपये ट्रांसफर करने वाले लोगों से जांच अधिकारियों ने बातचीत की तो उन्हें पता चला कि कई लोगों के पास नेपाल (Nepal)  के नंबर से फोन कर उन्हें ऐप डाउनलोड कर उसका सदस्य बनने के लिए कहा गया था। ऐसे में पुलिस का अनुमान है कि हो सकता है कि नेपाल में चल रहे कॉल सेंटर के जरिए यहां पर लोगों को जाल में फंसाया जा रहा था। फिलहाल पुलिस मामले में सभी पहलुओं की जांच कर रही है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.