|

प्रेमी ने अपनी दोनों प्रेमिकाओं से की शादी, दोनों की मांग में भरा एक साथ सिंदूर 

हमारे देश में हिंदू मैरिज एक्ट  के अनुसार एक व्यक्ति को एक समय पर एक ही शादी करने की इजाजत दी गई है। पहले पार्टनर के होते हुए दूसरी शादी को गैर कानूनी माना जाता है, लेकिन झारखंड में एक युवक के दो प्रेमिकाओं से एक साथ शादी करने का मामला सामने आया है। हैरानी की बात ये है कि उसने ये शादी किसी से छुप के नहीं की बल्कि गांव-परिवार और पूरे समाज के सामने की है। युवक ने सभी के सामने अपनी दोनों प्रेमिकाओं की मांग में एक साथ सिंदूर भर दिया और अब वो अपनी दोनों पत्नियों के साथ रहना चाहता है।

पूरे परिवार और समाज के सामने की शादी

दरअसल झारखंड के लोहरदगा के एक गांव के रहने वाले संदीप उरांव नाम के शख्स ने अपनी दोनों प्रेमिका कुसुम और स्वाति कुमारी से शादी कर ली है। संदीप ने ये शादी दोनों प्रेमिकाओं से छुपकर नहीं की है, बल्कि दोनों प्रेमिकाओं से एक साथ एक समय पर पूरे परिवार और गांव के सामने शादी है। अपनी दोनों प्रेमिकाओं से शादी करने के बाद संदीप का कहना है कि उसे कानून की परवाह नहीं है, वो बस इतना जानता है कि उसने दोनों से प्यार किया है और अब वो दोनों में से किसी को नहीं छोड़ सकता है।

कुसुम से है एक बच्चा, स्वाति को भी दे बैठा दिल

संदीप अपनी पहली प्रेमिका कुसुम के साथ पिछले तीन साल से लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहा था। कुसुम और संदीप का एक बच्चा भी है। सब अच्छा चल रहा था। तभी संदीप की मुलाकात एक साल पहले पश्चिम बंगाल में ईंट के भट्टे पर काम करने के दौरान स्वाति कुमारी से हुई। संदीप काम के सिलसिले में एक साल पहले पश्चिम बंगाल चला गया था। वो ईंट के भट्टे पर काम कर रहा था। स्वाति भी ईंट के भट्टे पर काम करती थी।‌फिर कुछ समय बाद संदीप वापस अपने गांव आ गया, लेकिन घर आने के बाद भी उसका लगातार स्वाति से बात होती रही वो स्वाति से मिलने भी जाया करता था।

पंचायत में हुआ फैसला

संदीप और कुसुम के बारे में पूरा परिवार जानता था। वहीं जब संदीप और स्वाति के बारे में परिवार के लोगों को पता चला तो वो बेहद नाराज हुए। केवल परिवार के लोग ही नहीं बल्कि गांव के लोग भी इस रिश्ते के बारे में जानने के बाद संदीप का विरोध करने लगे, लेकिन संदीप अपनी बात पर अड़ा रहा। आखिर में कई झगड़ों और विवादों के बाद पंचायत बुलाई गई, जिसमें तय हुआ कि संदीप को दोनों लड़कियों से शादी करनी चाहिए। पंचायत के इस फैसले का ना तो दोनों लड़कियों ने विरोध किया और ना ही उनके परिजनों ने। इसके बाद संदीप ने स्वाती और कुसुम की सबके सामने मांग भरी। दोनों से शादी की. अब तीनों एक साथ रह रहे हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.