हिंदू कर्मचारी को जबरन बीफ खाने का दबाव बनाने वाला मुस्लिम अफसर निलंबित, जांच कमेटी गठित

JAMMU KASHMIR NEWS : जम्मू कश्मीर के राजौरी से एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। यहां मांस खाने से मना करने पर जम्मू कश्मीर प्रशासनिक सेवा (जेकेएएस) के मुस्लिम अफसर ने अपने मातहत कार्य करने वाले हिंदू कर्मचारी के धर्म पर आपत्तिजनक टिप्पणियां की। मामले की शिकायत आने के बाद उपायुक्त ने आरोपित जेकेएएस अफसर अब्दुल रशीद कोहली को निलंबित कर दिया है। जिला प्रशासन ने मामले की जांच कमेटी गठित कर दिया है। यह कमेटी 15 दिनों में अपनी रिपोर्ट देगी। इस बाबत पुलिस ने भी मामला दर्ज कर लिया है। पंचायत विभाग में सहायक आयुक्त अब्दुल रशीद पर आरोप है कि उन्होंने हिंदू धर्म पर आपत्तिजनक टिप्पणी की और अपने मातहत काम करने वाले हिंदू कर्मचारी को धर्म के आधार पर प्रताड़ित किया। उसे जबरन बीफ खाने का दबाव भी बनाया।

वेदों के बारे में भी अफसर ने की गलत टिप्पणी

इस मामले में पंचायत सचिव संजीत शर्मा ने राजौरी के जिला विकास आयुक्त (डीडीसी) को भेजी शिकायत में बताया है कि गत मंगलवार को वह सहायक आयुक्त पंचायत अब्दुल रशीद कोहली और कुछ अन्य कर्मचारियों के साथ एक होटल में भोजन करने गए थे। वहां सभी ने मासाहारी भोजन किया। वहीं संजीत ने शाकाहारी भोजन का आर्डर दिया। जब संजीत को भोजन परोसा गया तो अब्दुल रशीद कोहली उस पर आग बबूला हो गए। उन्होंने उस कर्मचारी को जबरन बीफ खाने को कहने लगे। लेकिन कर्मचारी ऐसा करने को तैयार नहीं हुआ। इसके बाद मुस्लिम अधिकारी अब्दुल रशीद कोहली हिंदुओं की धार्मिक पुस्तकों  खासकर वेदों के प्रति भी आपत्तिजनक टिप्पणियां करने लगे। जब कर्मचारी ने इस पर आपत्ति जताई तो उन्होंने उसे नौकरी से निकालने पर की धमकी दे डाली। इस दौरान अफसर ने हिंदू कर्मचारी से अपना धर्म बदलने की बात भी कहीं।

 अफसर की टिप्पणी से धर्म विशेष को ठेस पहुंची 

जिला उपायुक्त विकास कुंडल ने अपने निर्देश में लिखा है कि कोहली ने धर्म विशेष को लेकर कुछ आपत्तिजनक बातें कहीं। इससे एक धर्म विशेष को ठेस पहुंची है। एक अधिकारी के ऐसे आचरण से कभी भी और कहीं भी कानून व्यवस्था की समस्या उत्पन्न हो सकती है। उन्होंने जेकेएएस अधिकारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आदेश दिया। इसके अलावा उन्होंने अतिरिक्त जिला विकास आयुक्त (एडीडीसी) पवन परिहार को मामले की जांच कर 15 दिन में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने का आदेश दिया। 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *