सुपारी देकर बेटे ने करा दी अपने ही कारोबारी पिता की हत्या, महज 7 घंटे में हत्यारे तक पहुंची पुलिस

West Bangal crime news : पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिला अंतर्गत शिवपुर के काजीपाड़ा में एक बेटे ने अपने ही कारोबारी पिता की हत्या करवा दी। बेटे ने अपने पिता की हत्या कराने के लिए 50 लाख रुपए की सुपारी अपने एक दोस्त को दी थी। ‌गत शुक्रवार को कारोबारी शेख मोहम्मद तायेब अली पर धारदार हथियार से हमलाकर उसकी हत्या कर दी गई थी। हत्या की योजना काफी शातिराना अंदाज में बनाई गई थी। सीसीटीवी से बचने का उपाय भी हत्यारे ने कर रखी थी। लेकिन पुलिस ने इस केस में तत्परता दिखाते हुए महज 7 घंटे में भी कातिल तक पहुंच गई। 

बेटे और उसका दोस्त गिरफ्तार

इस हत्याकांड की जानकारी देते हुए सीपी प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि इस मामले में पुलिस ने गोद लिए हुए बेटे शेख आकाश अफरीदी और उसके दोस्त शेख सिंकदर को गिरफ्तार किया है। अभियुक्तों से पूछताछ में पुलिस को मालूम हुआ​ कि अफरीदी ने पिता की हत्या के लिए सिंकदर को 50 लाख रुपए की सुपारी दी थी। अभियुक्तों से हुई पूछताछ के बाद पता चला ​कि हत्यारे सिंकदर ने अफरीदी की मदद से कारोबारी की हत्या की। 

कई लोगों से अफरीदी ने ले लिया था कर्ज 

सीपी ने आगे बताया कि कारोबारी का बेटा अफरीदी रईसों वाली जिंदगी जीता था। उसके पास महंगी मोटरसाइकिल थी। चांदनी में तायेब और अफरीदी (बाप और बेटे) की दो दुकानें हैं। इसका हिसाब किताब तायेब ही करता था। वहीं अफरीदी अपनी रईसी के लिए पिता से रुपये मांगता था, लेकिन तायेब ने देने से इनकार कर दिया था। क्योंकि वह चाहता था कि उनका बेटा अफरीदी स्वयं अपना खर्चा चलाए। सीपी ने कहा की नाइट क्लब में अफरीदी की दोस्ती सिकंदर से हुई थी। अफरीदी ने सिकंदर से भी उधार में पैसे लिए थे। जब सिकंदर ने अफरीदी से अपने पैसे मांगे तो उसने पैसे लौटाने में असमर्थता जताई। इसके बाद सिकंदर ने अफरीदी के पिता  तायेब से पैसे की मांग की। इस मामले को लेकर तायेब ने सिंकदर के सामने ही अफरीदी को डांट फटकार लगाई। ‌ इसी कारण अफरीदी के मन में पिता के प्रति द्वेष भर गया। ‌ 

योजनाबद्ध तरीके से की गई हत्या

पिता के प्रति नफरत पैदा होने के बाद अफरीदी ने अपने दोस्त सिकंदर के साथ मिलकर अपने पिता की हत्या करवा दी। हत्या के लिए अफरीदी ने फुलप्रूफ योजना बनाई थी। ‌ मसलन कब उसके पिता फ्लैट में आते हैं और कब वहां से जाते हैं। इसके लिए रेकी की गयी। वहीं कहां-कहां पर सीसीटीवी लगे हुए थे। उससे कैसे बचना है। तायेब की हर एक मिनट की जानकारी अफरीदी कोलकाता से हावड़ा में सिंकदर को वाट्सएप कॉल के जरिये देता था। ताकि उसकी कोई रिकार्डिंग न हो। शुक्रवार की रात लगभग 9 बजे हावड़ा के शिवपुर थानांतर्गत काजीपाड़ा में तायेब अपने फ्लैट में पहुंचे, तभी उन पर धारदार हथियार से हमला कर दिया गया। इससे उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। 

तायेब की संपत्ति पर अफरीदी करना चाहता था कब्जा

गौरतलब है कि तायेब की पहली शादी से कोई बेटा नहीं था, इसलिए उन्होंने अफरीदी को गोद लिया था। कुछ दिनों बाद तायेब ने दूसरी शादी कर ली। दूसरी पत्नी से तायेब को एक बेटा-बेटी हुआ। इसके बाद से ही अफरीदी और तायेब के संबंध बिगड़ने लगे थे। तायेब की काजीपाड़ा इलाके में एक जमीन थी, जिस पर अफरीदी बाइक शोरूम बनाना चाहता था, लेकिन तायेब इसके लिए तैयार नहीं था। वह चाहता था कि तायेब की संपत्ति पर केवल उसका अधिकार हो।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *