|

इस लड़की के खाते में आ गए 18 करोड़ रुपए और 11 महीने में सारे पैसे कर दिए खर्च, इसके बाद…

बिना सोचे समझे और विचार किए कोई भी काम करना कभी-कभी महंगा पड़ जाता है। ऐसा ही वाकया पिछले दिनों ऑस्ट्रेलिया में घटित हुआ है। ऑस्ट्रेलिया में पढ़ाई करने वाली एक मलेशियाई छात्रा के बैंक के अकाउंट में बैंक की गलती से एकाएक 18 करोड़ रुपए आ गये। इसके बाद उक्त छात्रा ने बिना सोचे समझे बेतहाशा खर्च करना प्रारंभ कर दिया। छात्रा ने महज 11 महीने में ही 18 करोड़ों रुपए खर्च कर दिए। इस कृत्य के लिए छात्रा और पश्चाताप कर रही है। क्योंकि उसे जेल भेज दिया गया है।

बैंक ने दे दी ओवरड्राफ्ट की अनलिमिटेड सुविधा

आजकल बैंकों द्वारा कारोबारियों को ओवरड्राफ्ट की सुविधा दी जाती है कि अचानक जरूरत पड़ने पर वह इसे खर्च कर सके। हम यह सकते हैं कि ओवरड्राफ्ट (Overdraft) एक फाइनेंशियल सुविधा है। इसके सहारे हम अपने बैंक अकाउंट से पैसे ना रहने पर भी रकम निकाल सकते हैं। इसे हम छोटी अवधि का लोन भी कर सकते हैं। इसका भुगतान अकाउंट धारी को एक निश्चित समय पर करना पड़ता है। यही सुविधा गलती से ऑस्ट्रेलिया के वेस्टपैक बैंक ( Westpac Bank) ने क्रिस्टीन जियाक्सिन नाम की एक मलेशियाई छात्रा को गलती से दें दी, वह भी अनलिमिटेड। 

बिना बैंक को बताए शॉपिंग में पैसे उड़ा दिए

चंद महीनों में ही 18 करोड़ रुपए खर्च करने वाली 21 वर्षीय क्रिस्टीन मलेशिया की निवासी है। ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में रहकर मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही है। गलती से ऑस्ट्रेलियाई बैंक वेस्टपैक ने उसे अनलिमिटेड ओवरड्राफ्ट की सुविधा दे दी। जब क्रिस्टीन को इस बात की जानकारी मिली तो उसने बैंक को बताए बिना शॉपिंग में बेतहाशा पैसे उड़ाने शुरू कर दिए। उसने गहनों की खरीदारी, पार्टी, घूमने, डिज़ाइनर हैंडबैग में करोड़ों रुपये खर्च कर दिए। बैंक से मिले पैसे से उसने एक महंगा अपार्टमेंट भी खरीद लिया। उसने किसी दूसरे के बैंक अकाउंट में ढाई लाख रुपए ट्रांसफर भी कर दिए। 

अदालत ने आरोपों से किया मुक्त

द सन की रिपोर्ट के मुताबिक करीब 11 माह तक क्रिस्टीन बैंक से धोखाधड़ी कर पैसे उड़ाती रहीं। हालांकि, जब इस बात का खुलासा हुआ तो क्रिस्टीन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। परंतु जब यह मामला अदालत में पहुंचा तो क्रिस्टीन पर लगे सभी आरोप खारिज कर दिऐ गए। इसके बाद उसे जेल से रिहा कर दिया गया।  

मलेशियाई छात्रा ने अदालत में दी यह सफाई

अदालत में अपनी सफाई देते हुए छात्रा क्रिस्टीन ने कहा कि मुझे लगा कि मेरे माता-पिता ने बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर किए हैं। वहीं, उनके वकील ने तर्क दिया कि क्रिस्टीन धोखाधड़ी की दोषी नहीं है, क्योंकि गलती तो बैंक ने किया है। इस मामले में क्रिस्टीन के प्रेमी विंसेंट किंग ने बताया कि  वह क्रिस्टीन के पास मौजूद इतनी बड़ी रकम से अनजान था। बाद में क्रिस्टीन सिडनी से अपने घर मलेशिया चली गईं। हालांकि जांच एजेंसियों ने मलेशिया की छात्रा क्रिस्टीन से 9 करोड़ रुपए से ज्यादा की संपत्ति रिकवर कर ली है। 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.