|

विदेशी दिव्यांग भिखारी निकला करोड़ों का मालिक! थाईलैंड पुलिस ने दोबारा किया गिरफ्तार, सच जानकर हैरान रह गया उसकी मदद करने वाला शख्स

एक भिखारी की मदद करने वाला व्यक्ति उस समय यह जानकर हैरान हो गया कि जिसकी उसने मदद की वह खाटी करोड़पति है। वह अपने पूरे परिवार के जरिए भीख मांगने का संगठित तौर पर काम करता है। हर महीने वह भिखारी दो लाख रुपए कमाई करता है। यह मामला थाईलैंड का है। जब उसके बारे में जांच पड़ताल की गई तो पता चला कि वह कंबोडिया का निवासी है। भीख मांगने के लिए वह अवैध ढंग से थाईलैंड में रह रहा है। यह मामला प्रकाश में आने के बाद थाईलैंड पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। उसे फिर से उसके देश कंबोडिया भेजने की तैयारी की जा रही है।

वीडियो देखने के बाद किया था मदद का फैसला

बता दें कि थाईलैंड निवासी गन जोम पलंग ने विकलांग कंबोडियाई भिखारी को इलाज कराने में मदद करने की घोषणा की थी। जब उसने भिखारी के बारे में जानकारी जुटाई तो उसे पता चला कि जिस भिखारी की वह मदद कर रहा है, उसकी हर महीने दो लाख रुपए आमदनी है। उसके पास करोड़ों की संपत्ति पहले से ही मौजूद है। इस बात से मदद करने वाले शख्स को गहरा आघात लगा। थाईलैंड की सोशल मीडिया पर भिखारी का वीडियो देखने के बाद उन्होंने उसे मदद करने का फैसला किया था। उन्होंने भिखारी को मदद दिलाने के लिए सामाजिक विकास और मानव सुरक्षा मंत्रालय से संपर्क करने की बात भी कही थी। गन जोम पलंग ने भिखारी की गंभीर स्थिति के बारे में भी लोगों को बताया था। इसके बाद कई लोग भिखारी की मदद को आगे आए थे। 

अपने 10 माह के बच्चे से भी मंगवाता है भीख

अपने को ठगा महसूस करने वाले गन को स्थानीय लोगों ने बताया कि 47 साल के भिखारी कोम पोर्मी थाई के बारे में स्थानीय अधिकारियों को पूरी जानकारी है। उसे पहले भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। भिखारी को उसके देश कंबोडिया भेजा गया था। लेकिन वह फिर अवैध ढंग से थाईलैंड में रहने लगा। थाई सरकार के कल्याण विभाग ने बताया कि भिखारी और उसका परिवार जो करता है, उसे मानव तस्करी से जुड़ा अपराध माना जाता है। पैसे के लिए वह अपने 10 महीने के बच्चे से भीख मंगवाता है। उसकी पत्नी, बच्चा और सास सहित पूरा परिवार भिखारी है। वह थाईलैंड के चोन बुरी में विभिन्न जगहों पर अपनी टीम के जरिए भीख मांगने का काम करता है।

फिर से भिखारी को कंबोडिया भेजने की तैयारी

 3 सितंबर को गन ने फेसबुक पर अपने फॉलोअर्स को संबोधित करते हुए कहा है कि भिखारी की हकीकत जानकर उन्हें बेहद निराशा हुई है। गन ने कहा कि उन्हें उस भिखारी ने धोखा दिया है। वह एक नकली भिखारी है। उसका एक गिरोह है। वह प्रति माह 2 लाख रुपये से अधिक कमाता है। वह 10 महीने के बच्चे को भीख मांगने के लिए लाता है। भिखारी अवैध रूप से कंबोडिया से थाईलैंड में दाखिल हुआ था। दोबारा मामला सामने आने के बाद, कंबोडियाई भिखारी और उसके परिवार को फिर से गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ के लिए उसे पुलिस स्टेशन में ले जाया गया है। अब उसे फिर से कंबोडिया भेजने की तैयारी की जा रही है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.