देश पर बुरी नजर डालनेवालों को देंगे मुंहतोड़ जवाब : राजनाथ सिंह 

National news : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (defence minister Rajnath Singh)  ने कहा है कि सशस्त्र बलों को स्वदेशी अत्याधुनिक हथियारों ( state-of-the-art weapons) से लैस करके सुरक्षा तंत्र को मजबूत करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है, क्योंकि देश सभी तरह के खतरों से निपटने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि भारत ने कभी किसी देश को चोट पहुंचाने की कोशिश नहीं की, लेकिन अगर कोई बुरी नजर डालने की कोशिश करेगा, तो उसको मुंहतोड़ जवाब दिया जायेगा। देश के नागरिक भी मजबूत, समृद्ध और आत्मनिर्भर ‘न्यू इंडिया’ के निर्माण में अपनी भूमिका निभायें। राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) रविवार को गैर सरकारी संगठन ‘मारुति वीर जवान ट्रस्ट’ की ओर से आयोजित ‘शहीदों को सलाम’ कार्यक्रम को वर्चुअली सम्बोधित कर रहे थे।

नागरिकों से राष्ट्र निर्माण में योगदान देने की अपील

रक्षा मंत्री ने नागरिकों से साम्प्रदायिक सोच से दूर देशभक्ति के गुणों को आत्मसात करके राष्ट्र निर्माण में योगदान देने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र, धर्म, जाति और भाषा की बाधाओं से ऊपर उठ कर सशस्त्र बलों के जवान नि:स्वार्थ भाव से मातृभूमि की सेवा करते हैं और लोगों को विभिन्न खतरों से बचाते हैं, उसी तरह हमारे क्रांतिकारी स्वतंत्रता सेनानियों ने भारत की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति दी थी। रक्षा मंत्री सिंह ने राष्ट्र की सेवा में सर्वोच्च बलिदान देनेवाले वीर स्वतंत्रता सेनानियों और सशस्त्र बलों के जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि हमारे स्वतंत्रता सेनानियों और सैनिकों के आदर्शों एवं संकल्पों को आगे बढ़ाना प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है।

न्यू इंडिया के निर्माण में भूमिका निभाएं सभी नागरिक

 देश की एकता, अखंडता और सम्प्रभुता की रक्षा करके मजबूत, समृद्ध और आत्मनिर्भर ‘न्यू इंडिया’ के निर्माण में अपनी भूमिका निभायें। शहीदों के परिजनों को राष्ट्रीय जिम्मेदारी बताते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार सेवारत और सेवानिवृत्त कर्मियों के परिजनों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। हाल ही में रक्षा मंत्रालय ने ‘मां भारती के सपूत’ वेबसाइट लॉन्च की है, ताकि लोग सशस्त्र बल युद्ध हताहत कोष में अधिक योगदान कर सकें।

सुरक्षा तंत्र को मजबूत करना सर्वोच्च प्राथमिकता

रक्षा मंत्री ने जोर देकर कहा कि सशस्त्र बलों को स्वदेशी अत्याधुनिक हथियारों/उपकरणों से लैस करके देश के सुरक्षा तंत्र को मजबूत करना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। रक्षा के क्षेत्र में जल्द ही पूर्ण ‘आत्मनिर्भरता’ हासिल करने के लिए ‘मेड इन इंडिया’ जहाज और अन्य उपकरण सशस्त्र बलों में शामिल किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीमाओं पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है और राष्ट्र सभी चुनौतियों से निपटने के लिए तैयार है। इस कार्यक्रम का आयोजन सशस्त्र बलों के जवानों, स्वतंत्रता सेनानियों और शहीद वीरों को सम्मान देने के लिए किया गया था। मारुति वीर जवान ट्रस्ट के प्रतिनिधियों के साथ-साथ शहीद हुए वीरों के परिवार भी इस कार्यक्रम में वर्चुअली शामिल हुए।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.