Shradha murder case : प्रेमी निकला कसाई, दो दिन तक काटा लिव इन पार्टनर श्रद्धा का शरीर, फिर धोया-सुखाया और रखा फ्रिज में

Latest crime Hindi news : दिल्ली के महरौली इलाके में हुए श्रद्धा हत्याकांड ने देशभर में खलबली मचा दी है। हर और इस घटना की चर्चा हो रही है। फिलहाल लिव इन पार्टनर की हत्या मामले में पुलिस ने आरोपी युवक आफताब को अदालत में पेश कर पांच दिन के रिमांड पर लिया है, ताकि श्रद्धा के शव के टुकड़ों को ढूंढकर पूरी साजिश का पर्दाफाश किया जा सके। पुलिस को सोमवार शाम तक शव के 35 टुकड़ों में से करीब 13 मिल गए हैं। हालांकि इस मामले में कई खुलासे धीरे-धीरे हो रहे हैं। सूत्रों के अनुसार श्रद्धा की हत्या के बाद आरोपी आफताब ने पहले दो दिनों तक श्रद्धा के शरीर के टुकड़े किया। फिर उसको धोया और सुखाकर प्लास्टिक में लपेटकर फ्रिज में रख दिया।

अमेरिकी क्राइम सीरियल डेक्सटर से मिला आईडिया

मिली जानकारी के अनुसार हत्या का आरोपी आफताब का कहना है कि उसे शव को ठिकाने लगाने का आइडिया अमेरिकी क्राइम सीरियल डेक्सटर से आया था। इसके अलावा बताया जा रहा है कि आफताब हर दिन उसी कमरे में सोता था, जहां उसने श्रद्धा की हत्या कर शव को काटा था। आफताब ने शरीर के टुकड़ों को ठिकाने लगाने के बाद फ्रिज की ठीक से सफाई की थी। पुलिस ने सोमवार को बताया कि श्रद्धा के पिता की शिकायत के आधार पर शनिवार को आरोपी आफताब पकड़ा गया और उसे 5 दिनों के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।

कॉल सेंटर में हुई थी आफताब से श्रद्धा की मुलाकात

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मुंबई की रहने वाली श्रद्धा वाकर (27) आरोपी आफताब के करीब मुंबई में एक कॉल सेंटर में काम करने के दौरान आई थी। हालांकि दोनों मुंबई में एक डेटिंग ऐप के जरिए  मिले थे। प्यार परवान चढ़ने के बाद तीन साल तक ये दोनोें लिव-इन रिलेशनशिप में रहे। इसके बाद फिर दोनों दिल्ली शिफ्ट हो गए।

श्रद्धा के शरीर को 35 टुकड़ों में काटा

दोनों के दिल्ली शिफ्ट होने के तुरंत बाद, श्रद्धा ने आफताब पर उससे शादी करने का दबाव बनाना प्रारंभ कर दिया। एडिशनल डीसीपी-1 साउथ दिल्ली अंकित चौहान ने इस मामले में जानकारी देते हुए बताया कि दोनों अक्सर झगड़ते थे और कभी-कभी है झगड़ा बहुत ज्यादा बढ़ जाता था। 18 मई को हुए झगड़े में आफताब ने अपना आपा खो दिया और उसका गला घोंट दिया। उनके अनुसार हत्यारोपी ने बताया कि उसने श्रद्धा के शरीर को 35 टुकड़ों में काट दिया। एक रेफ्रिजरेटर खरीदा और उसमें रख दिया। सूत्रों ने कहा कि बाद में उसने 18 रातों में दिल्ली के छतरपुर एन्क्लेव के जंगल के इलाके और उसके आसपास के विभिन्न स्थानों पर शवों के टुकड़ों को ठिकाने लगा दिया।

12वीं तक पढ़ाई, कई लड़कियों संग रिलेशन… कुछ ऐसी थी श्रद्धा के 35 टुकड़े करने वाले की जिंदगी

By Sanmarg Online | Updated: Tue, 15 November 2022,17:44 IST

मुंबई: पालघर की रहने वाली श्रद्धा की मुंबई के रहने वाले आफताब पूनावाला (28) ने हत्या कर उसके 35 टुकड़े कर दिए। यह सनसनीखेज वारदात दिल्ली में हुई। आफताब का परिवार मुंबई में रहता है। उन्होंने बताया कि आफताब एक औसत छात्र था। उनका कहना है कि उसका कभी किसी दोस्त या परिवारवालों से कोई झगड़ा नहीं होता था। उसके पिता अमीन चाहते थे कि वह पढ़ाई करे लेकिन उसने स्नातक की पढ़ाई अधूरी ही छोड़ दी। वह बिजनेस करना चाहता था और उसने पिता की मर्जी के खिलाफ पढ़ाई छोड़कर दिल्ली चला गया।

दोस्तों को नहीं हो रहा यकीन

आफताब के दोस्तों और परिवार को यकीन नहीं है कि उसने लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाकर (26) की जघन्य हत्या कर सकता है। एक पारिवारिक मित्र ने कहा, ‘आफताब स्वभाव से रिजर्व है। वह उलझन में रहता था कि लाइफ में क्या करना है। आफताब के पिता भी उसके भविष्य को लेकर चिंतित रहते थे। लेकिन यह विश्वास करना मुश्किल है कि उसने एक जघन्य हत्या की है।’

खोजा समुदाय का मुस्लिम है परिवार

खोजा समुदाय से ताल्लुक रखने वाले उनके परिवार ने उन्हें श्रद्धा के साथ संबंध बनाने से रोकने की कोशिश की थी। हालांकि वह एवरशाइन सिटी, वसई में एक किराए के घर में चला गया। वह अपने माता-पिता और छोटे भाई के संपर्क में रहा। पारिवारिक मित्र ने कहा, श्रद्धा उनसे कभी नहीं मिली थी। 2011 में सेंट पीटर्स जूनियर कॉलेज से 12वीं पास करने के बाद वह बिजनेस करने के लिए पुणे चला गया। वह कुछ महीनों में वापस आ गया और बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई करने के लिए उसने सांताक्रूज स्थित एक कॉलेज के BBA में प्रवेश लिया। एक स्कूल के दोस्त ने कहा कि उसने अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी और कई चीजों में हाथ आजमाया।

पहले भी कई लड़कियों के साथ रिलेशनशिप में रहा

आफताब एक ग्राफिक डिजाइनर का काम करने लगा। 2019 में एक डेटिंग ऐप पर वह श्रद्धा से मिला। बाइक और ट्रेकिंग से उसे प्यार था। श्रद्धा को भी यह पसंद था इसलिए दोनों एक दूसरे की तरफ आकर्षित हुए। एक दोस्त ने कहा कि जब श्रद्धा और आफताब ने लिव-इन-रिलेशन में रहने का फैसला लिया तो सब लोग हैरान हो गए। उन्होंने बताया कि आफताब पहले भी रिलेशनशिप में रह चुका था।

परिवार को दिल्ली शिफ्ट होने की नहीं दी थी जानकारी

पुलिस सूत्रों ने कहा कि आफताब के माता-पिता भी शुरू में दोनों के दिल्ली जाने के बारे में अनजान थे। उसने उन्हें जुलाई में नौकरी मिलने के बारे में बताया था और उसने श्रद्धा के साथ अपने रिश्ते को खत्म कर दिया था। वसई में पुलिस के पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर उसके माता-पिता चिंतित हो गए। उनका परिवार 3 महीने पहले मीरा रोड में शिफ्ट हुआ था। फिलहाल बेटे की गिरफ्तारी के बाद पिता दिल्ली पहुंचे हैं।

शेयर करें

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *