अब इस यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट ने हॉस्टल में कर लिया सुसाइड, 2 सप्ताह पहले ही लिया था…

Punjab News: चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी संबंधी वीडियो कांड का विवाद अभी हॉट ही बना हुआ था कि इसी बीच  पंजाब में पंजाब में जालंधर की लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी (LPU) में 20 सितंबर की आधी रात हंगामा हो गया। यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में एक छात्र ने सुसाइड कर लिया। केरल के रहने वाले इजिन एस. दिलीप कुमार के कमरे से सुसाइड नोट भी मिला है। उसने 2 हफ्ते पहले ही LPU में एडमिशन लिया था और इससे पहले वह NIT कालीकट में पढ़ रहा था।

केरल के प्रोफेसर को ठहराया जिम्मेदार

इजिन एस. दिलीप कुमार ने अपनी मौत के लिए केरल के कोझीकोड़ स्थित NIT कालीकट के प्रोफेसर प्रसाद कृष्णा को जिम्मेदार ठहराया है। उसने सुसाइड नोट में लिखा है- मेरी मौत के लिए सीधे तौर पर NIT कालीकट के प्रोफेसर प्रसाद कृष्णा जिम्मेदार हैं। उन्होंने मुझे प्रताड़ित किया और भावनात्मक रूप से जोड़-तोड़ कर कॉलेज छोड़ने के लिए मजबूर किया। मुझे अपने फैसले पर बहुत पछतावा है। मुझे क्षमा करें, शायद मैं सबके लिए बोझ बन रहा हूं। 

बैचलर ऑफ डिजाइनिंग के सेकेंड ईयर का स्टूडेंट

इजिन एस. दिलीप कुमार NIT कालीकट में बैचलर ऑफ डिजाइनिंग का सेकेंड ईयर का छात्र था। वहां कोई विवाद हो जाने पर प्रोफेसर प्रसाद कृष्णा ने उसे NIT छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया। दो हफ्ते पहले ही उसने LPU में फर्स्ट इयर में एडमिशन लिया था। 2 साल बर्बाद हो जाने की वजह से इजिन तनाव में था।

साथी के सुसाइड के बाद छात्रों का हंगामा


हॉस्टल में स्टूडेंट के खुदकुशी करने का खुलासा तब हुआ, जब LPU के गुस्साए छात्रों ने हंगामा शुरू कर दिया। आधी रात डेढ़ बजे के आसपास हॉस्टल्स में रहने वाले ज्यादातर छात्र कैंपस में जमा हो गए और ‘वी वॉन्ट जस्टिस’ के नारे लगाने शुरू कर दिए। कुछ छात्रों ने LPU के मेन गेट से बाहर निकलकर जालंधर-नई दिल्ली नेशनल हाईवे पर भी जाने की कोशिश की। हालांकि गेट पर तैनात सिक्योरिटी गार्ड्स और पुलिस ने उन्हें बाहर नहीं निकलने दिया।

पुलिस ने किया लाठीचार्ज
छात्र LPU प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। उनका आरोप था कि जिस स्टूडेंट की मौत हुई है, वह बच सकता था, लेकिन यूनिवर्सिटी में एम्बुलेंस देर से पहुंची। छात्र मांग कर रहे थे कि मृतक के कमरे से जो सुसाइड नोट मिला है, उसे सार्वजनिक किया जाए। पुलिस और यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट ने काफी देर तक छात्रों को मनाने की कोशिश की। जब छात्र नहीं माने और ज्यादा हंगामा करने लगे तो पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए हल्का बलप्रयोग किया। इसमें कुछ छात्रों को चोटें आईं।

पोस्टमॉर्टम के लिए शव नहीं ले जाने दिया
घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने इजिन एस. दिलीप कुमार की बॉडी एम्बुलेंस में डालकर पोस्टमॉर्टम के लिए फगवाड़ा सिविल अस्पताल के लिए रवाना की, मगर प्रदर्शनकारी छात्रों ने एम्बुलेंस का रास्ता रोक लिया। वह शव को यूनिवर्सिटी के बाहर नहीं ले जाने दे रहे थे। काफी मशक्कत के बाद एम्बुलेंस को दूसरे रास्ते से निकालकर बॉडी फगवाड़ा सिविल अस्पताल की मॉर्च्युरी में रखवाई गई है।

पुलिस ने कमरे को किया सील
पुलिस ने LPU में हॉस्टल के उस कमरे को सील कर दिया है, जिसमें इजिन एस. दिलीप कुमार रहता था। पुलिस ने डेड बॉडी सिविल अस्पताल भिजवाने के बाद कमरे में ताला लगाकर उसे सील कर दिया। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि इजिन के सुसाइड के बारे में केरल में उसके परिवार को सूचना दे दी गई है।

LPU ने कहा- निजी वजह से सुसाइड


लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी (LPU) के हॉस्टल में फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट इजिन एस. दिलीप कुमार के सुसाइड के बाद LPU मैनेजमेंट ने बयान जारी किया और छात्र की मौत पर दुख जताया। LPU मैनेजमेंट ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर जारी बयान में कहा कि सुसाइड नोट में छात्र ने निजी वजह से आत्महत्या की बात लिखी है। LPU मैनेजमेंट पुलिस-प्रशासन से पूरा सहयोग कर रहा है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.